वीडियो बनाकर युवती सोशल मीडिया पर करती थी अपलोड, पहले युवक ने युवती को प्रेमजाल मे फंसाया फिर शादी करके जिस्मफ़रोशी के धंधे मे ले आया, पढ़िये पूरी खबर

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

रांची: रांची और गोवा पुलिस की सक्रियता की वजह से बोकारो की एक नाबालिग बिकने से बच गई। फिलहाल नाबालिग लड़की गोवा सीडब्ल्यूसी की निगरानी में है। इस संबंध में चार दिन पहले नाबालिग की बड़ी बहन ने चुटिया थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। जिसमें यह कहा गया था कि उसकी बहन को एक क्रूज पर पहुंचाने की तैयारी की जा रही है। इस बात की जानकारी नाबालिग ने उसे दी है। इसके बाद रांची पुलिस ने गोवा सीडब्ल्यूसी से संपर्क किया। सीडब्ल्यूसी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए गोवा पुलिस की मदद से नाबालिग लड़की को आरोपी युवक के चंगुल से बरामद कर लिया। रांची पुलिस जल्द ही नाबालिग लड़की को रांची लाने की तैयारी कर रही है। फिलहाल नाबालिग गोवा सीडब्ल्यूसी की निगरानी में है।

सीडब्ल्यूसी रांची के सदस्य बैजनाथ कुमार ने बताया कि सूरज नाम के एक युवक ने सोशल मीडिया के जरिए नाबालिग को तरह-तरह के फिल्मी गानों पर वीडियो बनाकर पोस्ट करते हुए देखा था, जिसके बाद उसने एक साजिश के तहत सोशल मीडिया के जरिए ही नाबालिग से दोस्ती की। उसे अपने प्रेम जाल में फंसाया और फिर उसे बोकारो से रांची बुला लिया। रांची आने पर उसके साथ बकायदा शादी भी की और फिर उससे यह कहकर कि वह उसे मुंबई ले जाकर हीरोइन बनाएगा, अपने साथ लेकर गोवा चला गया।

एक दिन में कई लोग करते थे दुष्कर्म

गोवा में नाबालिग के साथ एक दिन में कई लोग दुष्कर्म किया करते थे, यहां तक कि सूरज भी उसके साथ हर दिन जबरदस्ती करता था। एक दिन मौका पाकर नाबालिग ने रांची में रहने वाली अपनी बहन को फोन कर पूरे मामले की जानकारी दी, जिसके बाद नबालिग के बहन ने रांची के चुटिया थाने को जानकारी दी। मामला सीडब्ल्यूसी के संज्ञान में भी पहुंचा। आनन-फानन में सीडब्ल्यूसी की टीम ने बचपन बचाओ संगठन और गोवा सीडब्ल्यूसी के साथ-साथ गोवा पुलिस को भी मामले की जानकारी दी।

नबालिग को तैयार कर क्रूज पर भेजने की हो रही थी तैयारी

सूरज के ठिकाने पर जब सीडब्ल्यूसी और गोवा पुलिस की टीम पहुंची, तब उसे बिल्कुल एक मॉडल की तरह तैयार किया जा रहा था। नबालिग को मॉडर्न ड्रेस पहनाकर कुछ लोग निकलने ही वाले थे कि पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देखकर सूरज और उसके साथी फरार होने में कामयाब हो गए, लेकिन पुलिस की टीम ने नाबालिग को बरामद कर लिया। पूछताछ में नाबालिग ने बताया है कि गोवा से मुंबई जाने वाले एक क्रूज में उसकी बोली लगने वाली थी। जिस्म के सौदागर उसका वहां सौदा करते और जो सबसे अधिक पैसे देता, उसे उसके साथ जाना पड़ता।

स्पेशल टीम कर रही नेटवर्क की तलाश

जो जानकारी मिल रही है, उसके अनुसार झारखंड में कई ऐसे गिरोह सक्रिय हैं, जो लड़कियों को मायानगरी में काम दिलाने का झांसा देकर उन्हें जिस्म के सौदागरों के पास भेज दे रहे हैं। रांची पुलिस फिलहाल गोवा पुलिस के संपर्क में है। एक स्पेशल टीम सूरज और उसके साथियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है। सूरज की गिरफ्तारी के बाद यह पता चल पाएगा कि उसने अब तक झारखंड से कितनी लड़कियों को जिस्म के दलदल में धकेला है।

गोवा में दिखा असली चेहरा

गोवा पहुंचने तक तो सब कुछ ठीक था, लेकिन जैसे ही सूरज नाबालिग को लेकर गोवा पहुंचा उसकी सच्चाई सामने आ गई। दरअसल सूरज जिस्म के सौदागरों के गिरोह का एजेंट था, जो भोली-भाली लड़कियों को बहला-फुसलाकर उन्हें मायानगरी में काम दिलाने का झांसा देकर उनके साथ पहले झूठी शादी करता और फिर मुंबई या गोवा ले जाकर उन्हें बेच देता था। नाबालिग को गोवा पहुंचने के बाद जब सूरज की सच्चाई पता चली, तब वह वहां से भाग निकलने की कोशिश करने लगी, लेकिन इसमें वह सफल नहीं हो पाई।