जयहरी खाल में बाघ का आतंक, कांग्रेस उपाध्यक्ष ने सरकार से की बाघ को मारने के लिए शिकारी भेजने की मांग

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता और प्रदेश कांग्रेश उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने पौडी जनपद के जयहरी खाल विकासखंड में आतंक का दूसरा नाम बने उस बाघ को तत्काल मारे जाने की मांग की है जिसने पिछले कई दिनों से पूरे जयहरी खाल ब्लॉक में आतंक फैलाया हुआ है और अनेक मवेशी इस बात के शिकार हो चुके हैं ।

धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि कई बार वन विभाग से इसकी शिकायत की गई है परंतु इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है और वन विभाग के जो लोग आए भी हैं तो उन्होंने सिवाय जानवरों के फोटो खींचने के अलावा कोई काम नहीं किया है । धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि इससे पहले भी पिछले 3 सालों में जिन इलाकों में भी मानवभक्षी बाघों ने जिन लोगों का शिकार किया या इन मवेशियों की हत्या की उनमें से एक को भी आज तक मुआवजा नहीं मिल पाया है ।उन्होंने वन मंत्री हरक सिंह रावत और मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से अपील की है कि वे तत्काल जयहरी खाल विकासखंड में इस बाघ को मारे जाने हेतु शिकारियों को मौके पर भेजें ताकि जल्द से जल्द इस पशु पक्षी और नरभक्षी बाघ को मारा जा सके। उन्होंने जिन लोगों के मवेशी इस बाघ ने मारे हैं उन परिवारों को वन विभाग द्वारा मुआवजा भी तत्काल मुहैया कराने की मुख्यमंत्री और वन मंत्री से मांग की है।