धामी बोले : 4 माह के कार्यकाल में 500 से अधिक फैसले, 24 हजार नौकरियां निकाली, 12 हजार पर प्रक्रिया जारी, आवेदन का भी शुल्‍क हटाया

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

बागेश्वर : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कोरोना के बाद रोजगार कम हुआ। लेकिन उत्तराखंड सरकार ने युवाओं के लिए तमाम योजनाएं बनाई। विभिन्न विभागों में 24 हजार नौकरियों निकाली हैं। जिसमें 12 हजार पर प्रकिया शुरू हो गई है। बागेश्वर-टनकपुर रेल मार्ग का सपना भी पूरा होने जा रहा है। शनिवार को कर्मी खेल मैदान में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि डंबल इंजन की सरकार प्रत्येक व्यक्ति की बेहतरी के लिए काम कर रही है। कोरोनाकाल ने लोगों को जरूर निराश किया है। कुछ लोग खोए भी हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड के एक करोड़ 25 लाख लोगों के लिए निरंतर काम हो रहा है। वात्सल्य योजना से 21 वर्ष तक तीन हजार रुपये अनाथों को भरण-पोषण के लिए दिए जा रहे हैं। उसके बाद उन्हें सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। गरीब बहनों के लिए महालक्ष्मी योजना बनाई गई है। स्वरोजगार करने वाली महिलाओं को छह माह तक का ऋण ब्याज माफ कर दिया गया है। पांच लाख रुपये का ऋण बिना ब्याज के दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री घस्यारी योजना भी शुरू की गई है।

सीएम ने कहा कि दानपुर महोत्सव संस्कृति की धरोहर है। जिसकी मजबूत नींव है। दानपुर महोत्सव चंडीगढ़ में भी आयोजित हुआ था। वहां भी गए थे और दानपुर घटी के लोग बेहतर सरल हैं। उन्होंने कहा कि बागेश्वर-टनकपुर रेल मार्ग का सपना भी पूरा हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वे की स्वीकृति प्रदान कर दी है। स्वास्थ्य के मामले में कुमाऊं में केवल सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी था। लेकिन अब एम्स की स्थापना भी कुमाऊं में होने जा रही है। इसके अलावा सटेललाइट स्वास्थ्य सेंटर भी खोला जा रहा है।

चार माह के कार्यकाल में पांच सौ से अधिक फैसले

मुख्यमंत्री ने कहा कि चार माह के कार्यकाल में पांच सौ से अधिक फैसले लिए गए हैं। सरकार की योजनाएं धरातल पर उतर रही हैं। उत्तराखंड के ग्राम प्रधान विकास कार्यों की मजबूत इकाई हैं। सरकार ने पिछले चार माह में आशा, आंगनबाड़ी, उपनल, शिक्षा मंत्र, ग्राम प्रधानों का मानदेय बढय़ा है। जिला पंचायत सदस्यों के लिए भी अहम फैसले लिए हैं।

नई खेल नीति बनाई

सीएम ने कहा कि नई खेल नीति बनाई गई है। गांव में रहने वाले खिलाड़ी को भी मंच मिल रहा है। गरीब परिवारों के युवाओं को खेलों की तरफ मोड़ा जा रहा है। उनके आने, जाने, रहने और भोजन आदि की व्यवस्था सरकार कर रही है। उन्हें अब किसी का मुंह नहीं ताकना पड़ेगा।

आंदोलनकारियों की पेंशन बढ़ी

सीएम ने कहा कि राच्य आंदोलनकारियों की पेंशन 4500 रुपये कर दी गई है। आंदोलनकारी पति या पत्नी को भी पेंशन देने का हक मिला है। उपनल र्किमयों की पेंशन दो हजार से तीन हजार रुपये तक बढ़ाई गई है।

कैबिनेट ले रहा अहम निर्णय

सीएम ने कहा कि कैबिनेट की बैठक में अहम निर्णय लिए जा रहे हैं। उत्तराखंड के लिए एक-एक क्षण देने का संकल्प लिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सहयोग मिल रहा है। आजादी के बाद चारधाम तक सड़क बन रही हैं। केंद्र का सात वर्ष का कार्यालय अन्य पर भारी पड़ रहा है। आयुष्मान भारत योजना से एक साल में पांच लाख रुपये तक मुफ्त उपचार हो रहा है। उच्च्वला योजना से रसोई का धुंआ कम हुआ है।

गोली का जवाब गोली से दे रहा भारत

सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल से सेना को उसके अधिकार मिले हैं। जवान आज गोली से गोली का जवाब देने में सक्षम हुई है। बर्फ में देश की सीमाओं में तैनात जवानों की बेहतरी के लिए काम हो रहा है। 2014 में केंद्र की सरकार बनी और 40 वर्ष पुरानी मांग वन रेंक वन पेंशन मिली। जिससे सेना का मनोबल बढ़ा है। सेना 1962 में भी बहादुर थी और आज भी बहादुर है। प्रधानमंत्री होली और दीवाली सैनिकों के बीच में मना रहे हैं।