वैज्ञानिकों का कारनामा ! मेंढक की कोशिकाओं से बना रोबोट पैदा करेगा बच्चे…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

न्यूज़ डेस्क: बच्चे पैदा करना एक ऐसा काम है जो दो लोगों के संबंध बनाने से होता है, हालांकि दुनिया में कुछ प्रजातियां ऐसी भी हैं जिन्हे बच्चे पैदा करने के लिए किसी नर या साथी की जरूरत नहीं पड़ती है, लेकिन क्या आपने कभी सपने में भी सोचा था कि एक दिन ऐसे भी रोबोट्स बन जाएंगे तो खुद बच्चे पैदा कर लेंगे। दुनिया का पहला जीवित रोबोट ‘जेनोबोट्स’ बनाने वाले वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि ये रोबोट अब प्रजनन भी कर सकते हैं।

बच्चे पैदा करने में सक्षम है ये रोबोट

एक समाचार चैनल की रिपोर्ट में एक वैज्ञानिक अध्ययन के हवाले से ऐसा कहा गया है। जीवित रोबोट को जेनोबोट्स के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल इस जेनोबोट्स को वर्मोंट विश्विद्यालय, टफ्ट्स विश्विद्यालय और हार्वर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने बनाया है।

मेंढक की कोशिकाओं से बना है ये रोबोट

इन रोबोट्स का आकार एक मिलीमीटर से भी कम होता है और इसे अफ्रीकी क्लाउड मेंढक (वैज्ञानिक नाम जेनोपस लाविस) की स्टेम कोशिकाओं से निर्मित किया गया है। इसी मेंढक से इसे जेनोबोट्स नाम मिला है। ये रोबोट कई सिंगल कोशिकाओं को जोड़कर अपना शरीर बना सकता है। जेनोबोट्स में कोई पाचन तंत्र या न्यूरॉन्स नहीं होते हैं, और लगभग दो सप्ताह के बाद स्वाभाविक रूप से अलग हो जाते हैं।

ऐसे पैदा करता है बच्चे

वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि नई खोज चिकित्सा क्षेत्र में उपयोगी साबित हो सकती है। ये रोबोट्स अपने मुंह के अंदर एकल कोशिकाओं को इकट्ठा करते हैं और बच्चों को बाहर निकालते हैं, जो अपने माता-पिता की तरह दिखते हैं। इस रिसर्च के लेखक और वैज्ञानिक जोशुआ बोंगार्ड ने कहा कि हम पहले भी देख चुके हैं कि जेनोबोट्स चल सकते हैं, जेनोबोट्स तैर सकते हैं अब हम देखेंगे कि वे अपनी संख्या भी बढ़ा सकते हैं। बता दें कि पिछले साल इस रोबोट का अनावरण किया गया था।