यहाँ अचानक आसमान से गिरने लगे मारे हुए परिंदे, हैरत मे पड़ गए लोग…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

न्यूज़ डेस्क: आसमान से बारिश होने आम बाद है और कई बार बारिश की बूंदों के साथ ओले भी गिरते हैं. लेकिन अगर आसमान से मरे हुए परिंदों की बारिश होने लगे तो शहर वासियों का दहशत में आना लाजिमी है. स्पेन के फेरोल शहर में एक ऐसी ही घटना हुई है जिसके बाद सभी हैरान रह गए हैं.

आसमान से नीचे गिरने लगे शव

बीती 26 नवंबर को नॉर्थ-वेस्टर्न स्पेन के शहर में सुबह करीब 9 बजे मरे हुए पक्षियों की बारिश होने लगी. लोकल मीडिया के मुताबिक मरे हुए स्टारलिंग (मैना) अचानक आसमान ने नीचे गिरने लगे. इनकी चपेट में आस-पास के घर और सड़क पर चलने वाले स्थानीय लोग भी आ गए. हालांकि पुलिस का कहना है कि इस घटना में किसी के घायल होने की खबर नहीं है.’डेली स्टार’ की खबर के मुताबिक कार्डोना हॉस्पिटल के बाहर का पूरा इलाका पक्षियों के लाशों से पट गया. कारों के ऊपर और सड़कों पर हर तरफ परिंदों के शव पड़े हुए थे. चश्मदीदों ने बताया कि पक्षी अचानक उड़ते हुए नीचे गिरने लगे और कुछ तो ऐसे थे जो सीधे पेड़ों से नीचे गिरकर मर गए.

मौत की वजह खोजने में जुटा प्रशासन

स्थानीय प्रशासन ने अब पक्षियों के कुछ शव जमा किए हैं ताकि उनका परीक्षण कर मरने की वजह का पता लगाया जा सके. प्रशासन का कहना है कि अब तक करीब 200 पक्षियों के शव मिल हैं, हालांकि सटीक गिनती का अनुमान लगाना मुश्किल है.  हाल में ही टेरागोना इलाके में ऐसी ही घटना हुई थी. यहां भी सैकड़ों की शख्स में पक्षी आसमान से नीचे गिरकर मर गए थे. जानकारी ने बताया कि तब उनकी मौत की वजह करीब के पेट्रोकेमिकल प्लांट ने निकलने वाली जहरीनी गैस थी.  मैना नाम के ये पक्षी ग्रुप में एक साथ उड़ान भरते हैं. यही वजह है कि इनकी मौत भी एक साथ पूरे समूह में हुई है. हालांकि पक्षियों का नीचे गिरना समझ में आ सकता है लेकिन इनकी मौत हो जाने की वजह अबतक किसी को समझ नहीं आ रही है.

इलाके में दहशत का माहौल

मरने की पीछे इलेक्ट्रिक शॉक को भी वजह बताया जा रहा है लेकिन अभी किसी अधिकारी ने इसकी पुष्टि नहीं की है. साथ ही आस-पास के इलाके में किसी तरह की ऐसी कोई फैक्ट्री या प्लांट नहीं हैं, जहां से खतरनाकर केमिकल या गैस का रिसाव होता हो. इलाके में ही एक लोकल पार्क है जहां भारी तादाद में पक्षी जमा होते रहते हैं. लेकिन इस तरह की घटना ने शहर के लोगों को परेशान कर दिया है. अब प्रशासन इन पक्षियों की मौत की वजह का पता लगाने में जुट गया है.