23 जिलों की महिलाओं को परेशान करता था ये पुजारी, करता था फोन पर गंदी बातें, पार कर देता था हदें सारी…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

लखनऊ: महिलाओं से फोन पर ओछी और अश्लील बातें करने वाले पुजारी देवेन्द्र कुमार को वुमेन पॉवर लाइन-1090 की टीम ने रायबरेली में गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पुजारी के खिलाफ लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव,  कन्नौज, शाहजहांपुर, जौनपुर समेत कई जिलों की महिलाओं ने इस तरह की शिकायत की थी। 1090 में अब तक 60 से अधिक महिलायें शिकायत कर चुकी थी। इसके बाद ही डीआईजी वुमेन पॉवर लाइन ने सख्त कार्रवाई के लिये टीम बनायी थी। लखनऊ की इस टीम ने रायबरेली में कार्रवाई कर भदोखर थाने में लिखापढ़ी करायी। आरोपी के पास मोबाइल व फर्जी आईडी पर लिये गये दो सिम भी बरामद हुये हैं।

1090 ने पहले समझाया पर नहीं माना

वुमेन पॉवर लाइन के डीआईजी रविशंकर छवि के मुताबिक कई दिनों से रोजाना कुछ महिलाओं शिकायत कर रही थी कि दो मोबाइल नम्बरों से उन्हें परेशान किया जा रहा है। फोन करने वाला शख्स उनसे अश्लील बातें करता है। विरोध करने पर धमकी भी देने लगता है। वूमेन पॉवर लाइन की टीम ने पहले आरोपी को समझाया पर उसने हरकतें बंद नहीं की। जब शिकायतें 60 की संख्या पार कर गई तो 1090 की टीम ने आरोपी को सबक सिखाने के लिये एक टीम बना दी। डीआईजी ने इंस्पेक्टर अजय पाल सिंह को पड़ताल में लगाया।

आम आदमी बन कर टीम पहुंची रायबरेली

इंस्पेक्टर ने दोनों नम्बर की पड़ताल की तो पता चला ये नम्बर फर्जी आईडी पर लिये गये हैं। दोनों सिम एक ही मोबाइल पर इस्तेमाल किये जा रहे थे। दोनों नम्बर की लोकेशन रायबरेली के भदोखर इलाके में मिल रही थी। इस पर टीम सामान्य नागरिक बन कर भदोखर पहुंची। पता चला कि कल्याणपुर रैली गांव में रहने वाले पुजारी देवेन्द्र कुमार ही यह हरकत कर रहा है। इस पर टीम ने भदोखर थाने पर इस बारे में रिपोर्ट दी। इसके बाद ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। भदोखर थाने में ही देवेन्द्र कुमार के खिलाफ छेड़छाड़, अश्लील बातें करना, फर्जी दस्तावेज से सिम लेने व धमकी देने की धारा में एफआईआर दर्ज कर ली गई। डीआईजी ने बताया कि देवेन्द्र पुजारी है और वह घरों में कथा व अन्य आयोजन में पूजा कराने का काम करता है।

सबसे ज्यादा शिकायत लखनऊ में दर्ज

डीआईजी रविशंकर ने बताया कि आरोपी देवेन्द्र कुमार के खिलाफ 23 जिलों की 60 से अधिक महिलाओं ने शिकायत दर्ज करायी थी। सबसे ज्यादा 10 शिकायत लखनऊ में दर्ज हुई है। इसके अलावा कानपुर नगर से सात, प्रयागराज से आठ, वाराणसी से पांच, बाराबंकी से चार, लखीमपुर खीरी व फतेहपुर से तीन-तीन, बलिया, उन्नाव, जौनपुर व कन्नौज से दो-दो, बस्ती, गाजियाबाद, श्रावस्ती, आजमगढ़, हमीरपुर, देवरिया, रायबरेली, कानपुर देहात, सीतापुर, गोण्डा, हरदोई और गोरखपुर से एक-एक शिकायत दर्ज हुई है।

Recent Posts