उत्तराखंड मे बढ़ेगा मतदान प्रतिशत : पहाड़ों में प्रेग्नेंट महिलाएं डोली से डालेंगी वोट, …घर पर आयेगी डोली लेने …

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: इस बार के विधानसभा चुनाव में निर्वाचन कार्यालय की ओर से कई सुविधाएं बढ़ाने की पहल की गई है। एक ओर जहां गर्भवतियों और निशक्तजन को मतदान केंद्र तक लाने के लिए डोली भेजी जाएगी तो दूसरी ओर 80 वर्ष से अधिक आयु वाले मतदाताओं और कोविड पीड़ितों को पोस्टल बैलेट की सुविधा दी जाएगी।

बूथ तक लाने के लिए डोली का प्रयोग

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि आगामी विधानसभा चुनाव में कोरोना के विरुद्ध हथियार के तौर पर मास्क, सैनिटाइजर, हैंड ग्लव्स और दिव्यांगजनों के लिए व्हील चेयर, रैम्प, दृष्टिबाधितों के लिए ब्रेल लिपि सभी बूथों पर उपलब्ध होगी। उन्होंने बताया कि इस बार पहाड़ों में नि:शक्तजनों तथा गर्भवती महिलाओं को बूथ तक लाने के लिए डोली का प्रयोग भी किया जाएगा।


80 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों, चिन्ह्ति दिव्यांगों, कोविड प्रभावितों को पोस्टल बैलेट की सुविधा दी जाएगी। कोविड प्रभावित अगर चाहेंगे तो मतदान के अंतिम समय में बूथ पर आकर भी वोट डाल सकेंगे लेकिन उन्हें पीपीई किट आदि सभी एहतियात बरतनी होगी।

तीन लाख 99 हजार से अधिक नए पंजीकरण

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि इस बार 3 लाख 99 हजार से अधिक नवीन पंजीकरण प्राप्त हुए है। इनमें नए मतदाता, मतदाता सूची से नाम हटाने और करेक्शन शामिल है। इनका समाधान करने के बाद जनवरी के पहले सप्ताह में मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

 किस जिले में कितने नवीन पंजीकरण
जिला- नवीन पंजीकरण
हरिद्वार- 64,359
नैनीताल- 29,493
अल्मोड़ा- 17,945
ऊधमसिंह नगर – 74,118
पिथौरागढ़- 15,520
बागेश्वर- 7,574
चंपावत- 10,330
चमोली- 12,174
उत्तरकाशी- 13,495
रुद्रप्रयाग- 9,647
टिहरी गढ़वाल- 25,689
पौड़ी गढ़वाल – 28,391
देहरादन – 82,579