11 दिसंबर को ही होगी देहरादून IMA मे पासिंग आउट परेड, राष्ट्रपति भी परेड मे होंगे शामिल…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में पासिंग आउट परेड शनिवार 11 दिसंबर को ही सादगी से आयोजित की जाएगी। सेना मुख्यालय से दिशा-निर्देश मिलने के बाद अकादमी प्रबंधन ने गुरुवार शाम को यह जानकारी दी है। बताया गया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बतौर निरीक्षण अधिकारी पीओपी में शिरकत कर पासिंग आउट बैच के कैडेट्स को संबोधित करेंगे। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे के भी उनके साथ आने की संभावना है। हालांकि, शेड्यूल में पूर्व निर्धारित मल्टी एक्टिीविटी डिस्पले व लाइट एवं साउंड शो को राष्ट्रीय शोक के चलते रद्द कर दिया गया है।


तमिलनाडु के कुन्नूर में एयरफोर्स के एमआई-17 वी-फाइव हेलीकॉप्टर के क्रैश होने के कारण चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत सेना व वायुसेना के 13 अधिकारियों व जवानों की मौके पर ही मौत हो गई है। आईएमए में 11 दिसंबर को होने वाली पासिंग आउट परेड में राष्ट्रपति के साथ सीडीएस जनरल रावत को भी शिरकत करनी थी। लिहाजा, अकादमी प्रबंधन तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा हुआ था। लेकिन इस हादसे के बाद घटनाक्रम से अचानक सब कुछ बदल गया।

अकादमी प्रबंधन ने गुरुवार को होने वाली कमांडेंट परेड (अंतिम रिहर्सल परेड) रद्द कर दी और मुख्य परेड को लेकर असमंजस की स्थिति खड़ी हो गई। बताया जा रहा है कि इस मामले को लेकर अकादमी प्रबंधन ने सेना मुख्यालय से विचार-विमर्श किया। इसके बाद प्राप्त दिशा-निर्देश के बाद अकादमी की जनसंपर्क अधिकारी ले. कर्नल हिमानी पंत ने बताया कि पासिंग आउट 11 दिसंबर को ही होगी। राष्ट्रपति बतौर निरीक्षण अधिकारी पीओपी में शिरकत करेंगे। शेड्यूल में पूर्व में शामिल कुछ कार्यक्रम रद्द किए गए हैं।

देश-विदेश के 387 जेंटलमैन कैडेट्स होंगे शामिल

पासिंग आउट परेड में देश-विदेश के 387 जेंटलमैन कैडेट्स शामिल होंगे। इनमें से 319 युवा सैन्य अधिकारी भारतीय थलसेना को मिलेंगे। जबकि आठ मित्र देश अफगानिस्तान, भूटान, श्रीलंका, नेपाल, मालद्वीव, म्यांमार, तंजानिया व तुर्कमेनिस्तान की सेना को 68 युवा सैन्य अधिकारी मिलेंगे। पासिंग आउट परेड में कोविड प्रोटोकॉल का पूरा ख्याल रखा जाएगा। इसलिए इस बार भी विदेशी मेहमान सीमित संख्या में ही पीओपी देखने के लिए आईएमए पहुंच रहे हैं। जबकि जेंटलमैन कैडेट्स के स्वजनों को पास जारी किए गए हैं।