रेलवे लाइन के बीच फंस गया था 3 साल के भतीजे का पैर, बचाने के लिए बुआ ने दे दी जान…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

मुरादाबाद: भतीजे को बचाने की कोशिश में ट्रेन की चपेट में आने से बुआ की मौत हो गई। सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। हालांकि बुआ ने भतीजे को बचा लिया, लेकिन खुद को नहीं बचा सकी। मृतका अपनी ममेरी बहन की शादी में आई थी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद स्वजन को सौंप दिया।

कुंदरकी थाना क्षेत्र के गांव हुसैनपुर हमीर निवासी मेवाराम की कटघर कोतवाली क्षेत्र के भैंसिया गांव में ससुराल है। उनके साले ओमप्रकाश की पुत्री कविता की आठ दिसंबर को शादी थी। इसमें शामिल होने के बेटी शशिबाला के साथ भैंसिया गांव आए थे। गुरुवार की शाम परिवार की अन्य महिलाओं के साथ शशिबाला लाइनपार स्थित तालाब पर पूजन करने के लिए गई थी। लौटते समय शशिबाला अपने साढ़े तीन साल के भतीजे आरव के साथ रेलवे ट्रैक पार कर रही थी। उस दौरान भतीजे का पैर रेलवे लाइन के बीच फंस गया। यह देख शशिबाला ने भतीजे को बचा लिया, लेकिन खुद ट्रेन की चपेट में आ गई। शादी के बाद बुआ की मौत की सूचना मिलते ही परिवार में मातम छा गया।