वायरल चिट्ठी की बदौलत सीएम धामी को सस्पेंड करना पड़ा अपना PRO, जानिये क्या था इस चिट्ठी मे

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पत्र पर बड़ा एक्शन लेते हुए अपने एक जनसंपर्क अधिकारी (PRO) को बर्खास्त कर दिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने इस पत्र की सत्यता को लेकर जाँच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस मामले में बड़ा एक्शन लेते हुए अपने एक जनसंपर्क अधिकारी (PRO) को बर्खास्त कर दिया है। मुख्यमंत्री ने पहले से ही सभी कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि अवैध खनन को लेकर जीरो टालरेंस अपनाया जाए और ऐसी कोई भी शिकायत मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दरसल पिछले 2-3 दिनों से सोशल मीडिया पर एक पत्र वायरल हो रहा है। वायरल पत्र के अनुसार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के पीआरओ नंदन सिंह बिष्ट ने बागेश्वर के एसएसपी को पत्र लिखकर ट्रैफिक पुलिस द्वारा हाल ही में किये गए तीन वाहनों के चालान को निरस्त करने को कहा गया है।

8 दिसंबर के इस पत्र में लिखा गया है कि मुख्यमंत्री के मौखिक निर्देशानुसार 29 नवंबर को बागेश्वर यातायात पुलिस ने वाहन संख्या यूके 02 सीए, 0238, यूके 02 सीए, 1238 और यूके 04 सीए 5907 के चालन निरस्त करने का कष्ट करें। इसकी प्रतिलिपि संभागीय परिवहन अधिकारी बागेश्वर को भी सूचनार्थ भेजी गई है। पत्र वायरल होने के बाद विपक्ष ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अब पुलिस के कार्यों में भी हस्तक्षेप करने लगे हैं। विपक्षी पार्टियों ने प्रकरण की पूरी जांच करने की मांग की है।

उधर मुख्यमंत्री के जनसंपर्क अधिकारी नंदन सिंह बिष्ट का कहना है कि पत्र किसी ने उनके कार्यालय से जारी किया है। लेटर हेड उनका ही है। पर पत्र में उनके हस्ताक्षर नहीं हैं। नीचे नाम लिखा गया है। उन्होंने कहा कि पत्र गलत लिखा गया है, वह इसकी जांच करवा रहे हैं। बड़ी बात यह है कि गोपनीय पत्र लीक कैसे हो गया, यह भी जांच का विषय है।

Recent Posts