सीडीएस जनरल बिपिन रावत के पैतृक गांव में बनेगा स्मारक- सतपाल महाराज

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: देश के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत की यादों को संजोए रखने के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह गंभीर है। पौड़ी जिले में जनरल रावत के पैतृक गांव सैंणा में सैनिक कल्याण और पर्यटन विभाग मिलकर स्मारक का निर्माण कराएंगे, ताकि युवा पीढ़ी उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व से प्रेरणा ले सके। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जनरल रावत ने पूर्व में अपने पैतृक गांव में बसने की इच्छा जताई थी, लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था।

कैबिनेट मंत्री महाराज ने हाल में राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के देहरादून आगमन पर उनसे हुई मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा कि राष्ट्रपति ने भी जनरल रावत की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह देश के लिए समर्पित थे। उनकी नेतृत्व क्षमता अद्भुत थी। महाराज ने कहा कि जनरल रावत को उत्तराखंड की लगातार चिंता रहती थी। महाराज ने बताया कि पूर्व में जब वह संसद की रक्षा संबंधी समिति के अध्यक्ष थे, तब उनके द्वारा सीडीएस की नियुक्ति, वन रैंक-वन पेंशन, सेटेलाइट से संबंधित सुझाव दिए थे। महाराज ने बताया कि वीरांगना तीलू रौतेली के पैतृक गांव गुराड में उनके घर को अधिग्रहीत किया जा रहा है। उनके घर को म्यूजियम में बदला जाएगा। साथ ही वहां स्मारक भी बनेगा।