खुद को नहीं रोक पाये, शीत लहर मे बेघरों का हाल रात मे ही जानने निकले DM देहरादून, खुद ओढ़ाए कंबल

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: उत्तराखंड में शीत लहर हाड़ कंपाने को तैयार दिख रही है। जिन खुशनसीब व्यक्तियों को छत नसीब है, सर्द मौसम में उनकी भी कंपकंपी छूट रही है। ऐसे में बेघर व्यक्तियों पर क्या बीत रही होगी, समझा जा सकता है। हालांकि, देहरादून के जिलाधिकारी (डीएम) डा. आर राजेश कुमार सोमवार देर रात बेघर व्यक्तियों का हाल देखने सड़क पर उतरे और उन्हें कंबल ओढ़ाए। वहीं, हरिद्वार महापौर अनीता शर्मा ने भी देर रात रैनबसेरों का निरीक्षण किया।

जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार ने दून अस्पताल चौक, रेलवे स्टेशन, नगर निगम कार्यालय के पास व विभिन्न अन्य सड़कों का निरीक्षण किया। उन्होंने देखा कि शीत लहर के बीच कई व्यक्ति फुटपाथ पर ही रात बिताने को विवश हैं। जिलाधिकारी ने ऐसे व्यक्तियों को कंबल ओढ़ाया और कुछ खाने-पीने की वस्तुएं भी दीं। जिलाधिकारी की मदद पाकर बेघर व्यक्ति गदगद नजर आए और उनकी सूनी आंखों में चमक भी लौटती दिखी।

इसके अलावा जिलाधिकारी ने शहर के विभिन्न रैन बसेरों का हाल भी देखा। उन्होंने निर्देश दिए कि रैन बसेरों में चादर व कंबल आदि का पुख्ता इंतजाम हर समय रहना चाहिए। इसके साथ ही सफाई व्यवस्था भी दुरुस्त रखी जाए। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बेघर व्यक्तियों को रैन बसेरों में शिफ्ट किया जाए। ताकि शीत लहर व बारिश की स्थिति में किसी भी अनहोनी को रोका जा सके। प्रशासन की सफलता भी तभी है, जब हर एक व्यक्ति के मदद करने के हरसंभव प्रयास किए जाएं।