क्रिकेटर ऋषभ पंत बने उत्तरखंड के ब्रांड एंबेसडर, सीएम धामी ने दी बधाई…  

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: क्रिकेटर ऋषभ पंत को उत्तराखण्ड का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया है। राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार क्रिकेटर ऋषभ पंत को राज्य एंबेसडर नियुक्त किया। राज्य सरकार के मुताबिक उत्तराखण्ड के युवाओं को खेलकूद एवं जन स्वास्थ्य के प्रति प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से भारत के क्रिकेट खिलाड़ी ऋषभ पंत को राज्य ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वीडिया कॉल के माध्यम से क्रिकेटर ऋषभ पंत से वार्ता कर उन्हें शुभकामनाएं दी, साथ ही उन्हें उत्तराखण्ड आने का निमंत्रण भी दिया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को ही एक महत्वपूर्ण जानकारी में बताया कि मसूरी में जीरो प्वांइट पर 500 वाहनों की पार्किं ग बनाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मसूरी प्रमुख पर्यटक स्थल है, कई वर्षों से यहां पार्किं ग की आवश्यकता महसूस हो रही थी। अब पार्किं ग के बन जाने से पर्यटकों को बड़ी राहत मिलेगी। प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए होम स्टे योजना पर विशेष जोर दिया जा रहा है। उत्तराखंड पर्यटन प्रदेश है और इसको बुलंदी तक पहुंचाने के लिए हम सब का दायित्व होगा कि उत्तराखंड के प्रतिनिधि के रूप में पर्यटकों का स्वागत करें। मसूरी के ही खट्टा पानी सड़क मार्ग का निर्माण किया जायेगा। हंस फाउण्डेशन के सहयोग से 34 आवासों का निर्माण किया जा रहा है, नगर पालिका मसूरी से जमीन उपलब्ध होने पर शेष 50 आवासों का निर्माण राज्य सरकार द्वारा करवाया जायेगा। मसूरी में यदि नगर पालिका मसूरी से जमीन मिलती है, तो वेंडर जोन बनाया जायेगा। गढ़वाल सभा के भवन के लिए 1.5 करोड़ रुपए की स्वीकृति भी हो चुकी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मसूरी राज्य निर्माण के आंदोलन की जन्मभूमि रही है। मसूरी और खटीमा दोनों ऐसे स्थान है जहां से उत्तराखण्ड को अलग राज्य बनाने के लिए राज्य आंदोलनकारियों ने अपनी शहादत दी। सरकार आंदोलनकारियों के सपनों को हकीकत में बदलने की लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 5 सालों में 1 लाख करोड़ से ज्यादा के विकास कार्य प्रदेश में हुए हैं, जिसमें एयरपोर्ट, रेलवे लाइन, चार धाम सड़क परियोजना समेत धार्मिक स्थलों का विकास शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन के अनुसार उत्तराखण्ड को वर्ष 2025 तक हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।

Recent Posts