उत्तराखंड कांग्रेस की पहली लिस्ट मे होंगे इन विधानसभा सीटों से टिकट के नाम फाइनल…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

हल्द्वानी : कांग्रेस फिलहाल टिकट बांटने के मामले में भाजपा से बढ़त बनाने की राह पर दिख रही है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआइसीसी) पर्यवेक्षकों के बाद स्क्रीनिंग कमेटी के जरिये दावेदारों का आकलन करने का सिलसिला जारी है। 21 दिसंबर तक पूरे प्रदेश में यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। यहां से फाइनल नामों में से ही किसी एक पर हाईकमान मुहर लगाएगा।

इधर, कुमाऊं की जागेश्वर, द्वाराहाट, रानीखेत और जसपुर विधानसभा सीट पर सिर्फ एक-एक आवेदन आया है। तीन जगहों पर मौजूदा विधायक और एक जगह पूर्व विधायक ने 2022 के लिए टिकट मांगा है। इसके अलावा सोमेश्वर और खटीमा सीट पर दो-दो लोगों ने टिकट मांगा है। ऐसे में पूरी संभावना है कि कुमाऊं 29 में से इन छह सीटों पर कांग्रेस आचार संहिता लगने से पहले प्रत्याशी के नाम की घोषणा करके बढ़त बना सकती है।

स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे ने अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ और नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाली 29 विधानसभा सीटों पर टिकट के लिए आवदेन करने वाले नेताओं का इंटरव्यू ले लिया है। खास बात यह है कि जागेश्वर से गोविंद सिंह कुंजवाल, रानीखेत से करन माहरा, जसपुर से आदेश चौहान के अलावा किसी अन्य ने आवेदन नहीं किया। तीनों कांग्रेस के मौजूदा विधायक हैं। इसके अलावा द्वाराहाट सीट से पूर्व विधायक मदन बिष्ट ही एकमात्र दावेदार है।

यानी पार्टी को इन चार जगहों पर टिकट फाइनल करने में किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी। वहीं, खटीमा से कार्यकारी अध्यक्ष भुवन कापड़ी के अलावा प्रकाश तिवारी ने टिकट मांगा है। भुवन ने पिछले चुनाव में मौजूदा सीएम पुष्कर सिंह धामी को कड़ी टक्कर दी थी। वहीं, सुरक्षित सोमेश्वर विधानसभा से पूर्व में प्रत्याशी रहे राजेंद्र बाराकोटी और राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा का आवेदन मिला है। सूत्रों की मानें तो इन दोनों जगहों पर राय-मशविरे के जरिये हाईकमान एक नाम फाइनल करने पर जोर दे रहा है। स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे का कहना है कि जो आवेदन आए हैं इन्हीं में से नाम हाईकमान को भेजे जाएंगे। निर्णय शीर्ष स्तर से ही होगा।