पूर्व गवर्नर लेफ्टिनेंट जनरल एम् एम् लखेड़ा बने राष्ट्रीय लोकनीति पार्टी एडवाइज़री बोर्ड के प्रमुख।

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: राष्ट्रीय लोकनीति पार्टी ने सेना के पुरोधा पूर्व राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल मदन मोहन लखेड़ा को राष्ट्रीय सलाहकार बोर्ड का प्रमुख बनाया है जो पार्टी का सर्वोच्च पद है। सेवानिवृत्ति के बाद भी जनरल लखेड़ा ने देश -प्रदेश की बदहाली से विचलित होकर राष्ट्र के नव निर्माण हेतु स्वयं को जनसेवा के लिए समर्पित किया है। पार्टी उत्तराखंड में भी जनरल लखेड़ा के मार्गदर्शन में अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रही है। उत्तराखंड निर्माण के दो दशक बीतने के बाद भी राजनीतिक परिवेश में आज तक किसी ने भी सिद्धांत की राजनीति नहीं की। सिद्धांत, पारदर्शिता और जवाबदेही जैसी बातें सिर्फ भाषणों और घोषणापत्रों तक सिमट गई। सत्ता परिवर्तन होता रहा लेकिन व्यवस्था परिवर्तन नहीं हो पाया। प्रदेश पलायन के दंश झेलता रहा, नेता और सरकारें यह सब ताकती रही और अपनी व् पार्टी की जेबें भरती रही, लेकिन अब ऐसा नहीं होने दिया जाएगा। हालांकि दूसरों की आलोचना करना हमारा सिद्धांत नहीं है लेकिन हकीकत को नकारा भी नहीं जा सकता। अब नई सदी की नई सोच व् नेतृत्व के साथ राजनीति के नए प्रयोग का उचित समय आ गया है। प्रदेश में व्यवस्था परिवर्तन के लिए राष्ट्रीय लोकनीति पार्टी का विधिवत लॉंच शीघ्र ही देहरादून से होगा।

चुनाव को लेकर जनरल लखेड़ा ने कहा कि पार्टी का पहली बार शुचिता और अनुशासन के साथ देवभूमि से चुनाव लड़ना हमारे लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला लिया है, जिसके लिए प्रत्याशी का चुनाव जनता की राय से किया जा रहा है और आम जनता ही जनघोषणापत्र भी तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी के मुख्य सिद्धांत सुशासन व पारदर्शिता के साथ जवाबदेही शामिल है। जिसके लिए रीयल टाइम डाटा के साथ न्यू एरा लीडरशिप को तैयार करना है ताकि देश में व्याप्त राजनीतिक संक्रमण जैसे आपराधिक, परिवारवाद व् पार्टी द्वारा प्रत्याशी को थोपने की कुप्रथा पर रोक लगाई जा सके। इक्कीसवीं सदी का वर्तमान युग सूचना तकनीक, जनसंवाद एवं प्रौद्योगिकी का युग है।

उन्होंने कहा कि पार्टी के उद्देश्य में एक ही इलेक्ट्रॉनिक कार्ड पर समस्त सेवाओं को लाना है ताकि कार्डों के बोझ से निजात मिल सके और कोई एक कार्ड राष्ट्रीयता को प्रमाणित कर सके। प्रत्येक पंचायत में उसी क्षेत्र के 10 लोगों को रोजगार देकर हर सेवा को घर पर ही उपलब्ध करवाना शामिल है। इसके साथ – साथ पार्टी का मानना है कि दूसरे राजनीतिक दलों द्वारा घोषणापत्र में मुफ्तखोरी और धन के लूट का लालच दिया जा रहा है इसके विपरीत लोकनीति पार्टी प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अपना जनघोषणापत्र समस्याओं के संभावित समाधानों सहित जनता के सामने रखेगी। इन संकल्पों के अलावा समस्त गतिविधियों पर हम एक नई सोच के साथ आगे बढ़ने के लिए एकजुट होकर जनता के बीच जाने की लिए तैयार हैं और लोकतंत्र की बुनियाद को मज़बूत करने के उ्देश्य से आगे बढ़ रहे हैं।