पर्वतीय राज्यों में हिमाचल पहले स्थान पर उत्तराखंड एक स्थान गिरकर तीसरे पर पहुंचा…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: देश के 11 उत्तर-पूर्वी व पर्वतीय राज्यों में सुशासन के मोर्चे पर उत्तराखंड तीसरे पायदान पर खिसक गया है। नीति आयोग की पिछले दिनों वर्ष 2020-21 की जारी सुशासन (गुड गवर्नेंस) सूचकांक रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ। रिपोर्ट में हिमाचल लगातार दूसरे साल सबसे अधिक स्कोर के साथ पहले स्थान पर रहा। दोनों हिमालयी राज्यों का सुशासन सूचकांक स्कोर ए और बी श्रेणी के कई बड़े राज्यों से बेहतर रहा।


रिपोर्ट के अनुसार, पर्यावरण, अवस्थापना गतिविधियों के मामले में उत्तराखंड की रैकिंग अन्य पर्वतीय राज्यों की तुलना में कमतर रही। रिपोर्ट के अनुसार, नागरिक केंद्रित सुशासन, उत्तराखंड में कृषि, उद्यानिकी, जनस्वास्थ्य, सामाजिक कल्याण, न्यायिक व्यवस्था व जन सुरक्षा के मामले में राज्य की रैकिंग में कुछ सुधार हुआ।

कृषि सेक्टर में हिमाचल से ऊपर

खेती, उद्यानिकी, किसानों से जुड़े अन्य क्षेत्र का सुशासन सूचकांक मिजोरम का स्कोर सबसे बेहतर है। उत्तराखंड की रैंक सातवीं है जो हिमाचल (आठवीं) से बेहतर है।
वाणिज्य एवं उद्योग के सूचकांक में जम्मू कश्मीर पहले व हिमाचल दूसरे स्थान पर है। उत्तराखंड का स्थान तीसरा है। मानव संसाधन विकास के सूचकांक हिमाचल के बाद उत्तराखंड का स्थान दूसरा है।
जनस्वास्थ्य के मामले में मिजोरम पहले, हिमाचल छठे और उत्तराखंड सातवें स्थान पर है।

जन अवस्थापना गतिविधि में हिमाचल पहले और उत्तराखंड आठवें स्थान पर है। त्रिपुरा पहले, मिजोरम दूसरे व उत्तराखंड तीसरे स्थान पर है। हिमाचल का छठा स्थान है।  सिक्किम पहले, हिमाचल दूसरे और उत्तराखंड छठे स्थान पर है। न्यायिक मामलों के निपटारे पुलिस एवं महिला पुलिस की उपलब्धता के मामले में उत्तराखंड की रैकिंग दूसरे स्थान पर है। नगालैंड पहले स्थान पर है। इस मोर्चे पर करीब 65 फीसदी वन क्षेत्रफल वाले उत्तराखंड राज्य की रैकिंग आठवीं है। मणिपुर पहले, त्रिपुरा दूसरे व हिमाचल तीसरे स्थान पर है। जन केंद्रित सुशासन के मोर्चे पर उत्तराखंड पहले पायदान पर रहा। जम्मू-कश्मीर दूसरी व हिमाचल चौथी रैकिंग रही। 2019-20 में उत्तराखंड का स्कोर 4.87 था, हिमाचल का 5.22 रहा था।
पर्वतीय राज्यों की कंपोजिट रैकिंग

राज्य          रैकिंग    स्कोर
हिमाचल       01     5.84
मिजोरम        02     4.87
उत्तराखंड      03     4.84
त्रिपुरा          04     4.50
सिक्किम        05     4.40
जम्मू कश्मीर   06      4.19
असम           07      4.04
नगालैंड         08        3.61
मणिपुर         09          3.48
मेघालय      10         3.47
अरुणाचल   11            2.84

नोट: 2020-21 की जीजीआई रिपोर्ट पर आधारित।

उत्तराखंड व हिमाचल बड़े राज्यों से बेहतर

हिमालयी राज्य उत्तराखंड और हिमाचल के सुशासन सूचकांक के अंक 2019 की तुलना में कुछ कम बेशक रहे, लेकिन उनका प्रदर्शन बड़े राज्यों से बेहतर रहा। रिपोर्ट के अनुसार, उत्तराखंड की बी श्रेणी के राज्य बिहार, छत्तीसगढञ, उड़ीसा, यूपी और पश्चिम बंगाल से बेहतर सूचकांक रहा। हिमाचल की रैंक ए श्रेणी के आंध्र प्रदेश, पंजाब, तेलंगाना व बी श्रेणी के बिहार, यूपी, छत्तीसगढ़, झारखंड, मध्यप्रदेश, उड़ीसा, राजस्थान, पश्चिम बंगाल से बेहतर रही।