बेरोजगार फार्मासिस्टों का ऐलान – 21000 फार्मासिस्ट देंगे कांग्रेस का साथ, 30 दिसम्बर को फूंकेंगे सरकार और मंत्री का पुतला

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: प्रशिक्षित बेरोज़गार डिप्लोमा फार्मेसिस्ट अपनी नियुक्ति सहित  विभिन्न माँगों को लेकर धरना स्थल एकता विहार देहरादून  में 19 अगस्त 2021 से आंदोलनरत है परंतु सरकार  द्वारा बेरोजगारों की माँगों के संबंध में कोई संज्ञान नहीं लिया गया  है और 20 दिसंबर 2021 को एक शासनादेश जारी करके 21 वर्षों से रोज़गार की आस लगाये बेरोज़गार फार्मासिस्टों के भविष्य को अंधकार में धकेल दिया गया है जिससे 21000 बेरोज़गार फार्मासिस्टों द्वारा सरकार  की अन्यायपूर्ण नीति के ख़िलाफ़ प्रदेश के कुछ स्थानों पर 30 दिसंबर 2021 को सरकार एवं स्वास्थ्य मंत्री का पुतला दहन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है जिसको प्रदेश के पाँच विभिन्न स्थानों *देहरादून,श्रीनगर,खटीमा, पिथौरागढ़, और हल्द्वानी *में सम्पादित किया जायेगा।

इसी के साथ बेरोज़गार फ़ार्मासिस्ट महासंघ ने वर्तमान भाजपा सरकार का पूर्ण बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। 30 दिसम्बर को देहरादून में सरकार एवं स्वास्थ्य मंत्री का पुतलादहन के पश्चात धरनास्थल पर कोंग्रेस पार्टी के दिग्गज नेताओं का सम्बोधन होगा ।जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावतजी गणेश गोदियालजी नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह जी  प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, सुमितर भुल्लर,वैभव वालिया ,सुजाता पॉल शूरवीर सिंह सजवान NSUI और भी बहुत सारे गणमान्य शामिल होंगे।

इस कार्यक्रम में महासंघ के सदस्य कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे और भाजपा की सदस्यता से इस्तीफ़ा देंगे और साथ ही भाजपा की निर्दयी सरकार को सत्ता से बेदख़ल करने की सपथ लेंगे। कोंग्रेस पार्टी ने महासंघ की  माँगों पर सकारात्मक पक्ष रखकर इसे पार्टी के चुनावी घोषणापत्र में शामिल करने का निर्णय लिया है और सरकार बन जाने की स्थिति में ६ माह के भीतर महासंघ की  माँगों पर काम करने का वचन दिया है । 133वें दिन धरने देने वालों में जयप्रकाश, जगदीश ,विनायिका, विपुल, संजीव, राकेश ,अरुण पामिता, सोनल आदि उपस्थित रहे।