केंद्र ने दी मंजूरी, 3 जनवरी से शुरू होगा बच्चों का वैक्सीनेशन, टीका लगाने वालों को लेनी होगी ट्रेनिंग…

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

नई दिल्ली: तीन जनवरी से देश में 15 से 17 वर्ष आयु वाले बच्चों का टीकाकरण शुरू हो रहा है। इसकी गाइडलाइन भी जारी हो चुकी हैं। इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को 15-17 साल के बच्चों को टीके लगाने के लिए ट्रेनिंग देने की सलाह दी है। मंत्रालय ने कहा है कि टीके लगाने वालों की पहले व्यवस्थित ट्रेनिंग हो। इसके लिए सेंटर बनाए जाएं। यहां बच्चों को कोवैक्सीन लगाने के लिए ट्रेनिंग दी जाए। गौरतलब है कि 3 जनवरी से देश में 15 से 17 वर्ष की उम्र के बच्चों को वैक्सीन लगाने की तैयारी है। कोविड-19 रोधी वैक्सीनेशन के लिए 1 जनवरी से ‘कोविन’ पोर्टल पर इसके लिए रजिस्ट्रेशन कराए जा सकेंगे। बच्चों के लिए अभी सिर्फ ‘कोवैक्सिन’ ही उपलब्ध होगी। हालांकि, देश में जायकोव डी और कोवोवैक्स को भी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है, लेकिन अभी सरकार के पास सिर्फ कोवैक्सीन ही उपलब्ध है।

10 जनवरी से लगेंगे बूस्टर डोज

देश में 10 जनवरी से हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स को बूस्टर डोज देने की शुरुआत होनी है। इसके साथ ही 60 साल से अधिक उम्र वालों को भी बूस्टर डोज दी जानी है। यह डोज उन्हें ही लगाई जाएगी, जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। केंद्र सरकार ने इसे प्रिकॉशनरी डोज कहा है। यह दूसरी डोज के 9 महीनों बाद लगाई जा सकेगी।

महाराष्ट्र में स्कूल शिक्षा मंत्री पॉजिटिव 

देश में बढ़ते कोरोना के मरीजों और ओमीक्रोन के नए मामलों के बीच महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा एकनाथ गायकवाड़ कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। , उनमें हल्के लक्षण महसूस किए गए हैं। इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके दी है। वह क्वारेंटाइन हैं और डॉक्टरों की निगरानी में इलाज करवा रही हैं। उन्होंने अपने संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने और सुरक्षित रहने की अपील की है।

चुनावी राज्यों में टेंशन, वैक्सीनेशन बढ़ाने के आदेश 

उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में इसी साल चुनाव होने हैं। यूपी, पंजाब और उत्तराखंड में चुनावी सभाएं और  रैलियां लगातार जारी हैं। इस बीच बढ़ते ओमीक्रोन के चलते केंद्र ने इन राज्यों में वैक्सीनेशन बढ़ाने के आदेश दिए  हैं।