कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को नहीं है ज्ञान ! या फिसल गई गोदियाल की जुबान ?…देखिये वीडियो

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून: ब्रिटिश हुकूमत के दौरान 28 दिसंबर, 1885 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना हुई थी. इसके संस्थापकों में ए.ओ. ह्यूम, दादा भाई नौरोजी और दिनशा वाचा शामिल थे. देश की आजादी की लड़ाई में कांग्रेस ने अहम भूमिका निभाई थी. बाद में यह देश की प्रमुख राजनीतिक पार्टी बन गई. और इस दिन कांग्रेस अपना स्थापना दिवस मनाती आ रही है।

28 दिसंबर को उत्तराखंड मे कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय देहरादून में देश की आजादी से पूर्व और आजादी के बाद देश के विकास में कांग्रेस के योगदान विषय पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस अवसर पर गणेश गोदियाल ने कहा कि कांग्रेस का हमेशा संघर्ष का इतिहास रहा है और देश को सैकड़ों सालों की गुलामी से निजात दिलाने का इतिहास दर्ज है. इसी संघर्ष और कुर्बानी की बदौलत आज कांग्रेस देश की आत्मा बन चुकी है.

देखिये वीडियो

लेकिन मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कांग्रेस के स्थापना दिवस राज्य स्थापना दिवस बता दिया। अब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है। लोग तरह तरह की बाते कर रहे हैं कई लोगों का कहना है की उत्तराखंडियत अभियान चलाने वाली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज्य स्थापना दिवस और कांग्रेस स्थापना दिवस मे फर्क भी नहीं जानते ? अब गोदियाल जी की जुबान फिसली या उन्हे ये पता ही नहीं चला की वो राज्य स्थापना दिवस के प्रोग्राम मे हैं या अपनी कांग्रेस के स्थापना दिवस के प्रोग्राम मे । भले ही अंजाने मे उन्होने ये बात कही लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद फजीहत तो हो ही रही है, और विरोधी दल चाहे वो बीजेपी हो या आप दोनों को  कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को घेरने का मौका गोदियाल की मार्फत मिल गया है। एक बात तो है की गणेश गोदियाल की ज़ुबान से ये जुमला निकलने के बाद गोदियाल खंडन भी कर सकते थे और ये मामला यहीं सिमट जाता लेकिन ऐसा नहीं हुआ।