May 18, 2022 12:15 pm

उत्तराखंड में कॉमन सिविल कोड जल्द, अन्य राज्यों से भी लागू करने की अपील: सीएम धामी

काशीपुर: दिल्ली से लौटे सीएम धामी सोमवार को अलग अंदाज में नजर आए। काशीपुर में कार्यक्रम के दौरान उन्होंने काॅमन सिविल कोड, पर्यटन, शिक्षा सहित राज्य के विकास का खाका खींचा। उन्होनें उत्तराखंड को एक माॅडल प्रदेश में कैसे विकसित करना है। सरकारी कामकाज में सरलीकरण व भ्रष्टचार पर लगाम जैसी बातों दिल्ली बैठक का असर साफ तौर पर नजर आ रहा था। काशीपुर के बासखेड़ा में प्राथमिक स्कूल के रूपांतरण कार्यक्रम में पहुंचे सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सरकार सरलीकरण के मंत्र पर काम करेगी। सरलीकरण, समाधान और निस्तारणीकरण पर ध्यान देना है।

हर घोषणा के लिए प्रतिबद्ध

सीएम ने एक बार फिर यूनिफार्म सिविल कोड के लागू होने को लेकर कहा कि कैबिनेट मीटिंग बड़ा फैसला लिया है वादे को निभाते ही अपने पहली बैठक में इसे लागू करने का फैसला किया है।

इसी के अंतर्गत एक कमेटी बनाई है जो कॉमन सिविल कोड का ड्राफ्ट तैयार करेगी। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अपने कमेटी जो बना रहे हैं उसमें विधि के जानकार होंगे और यह ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा। इस ड्राफ्ट को विधि विभाग द्वारा जांच की जाएगी। मेरा अन्य राज्यों से भी निवेदन है कि वह भी इस कानून को अपने-अपने राज्यों में लाए।

सरकारी कामकाज सरल-भ्रष्टाचार पर लगाम

सरकारी जटिल प्रक्रियाओं को आसान करने के लिए सरकार काम करेगी। इसमें भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म करेंगे। सरकारी कामकाज में पारदर्शिता व इस पर अंकुश के लिए 1064 का नंबर शुरू किया है। इसके लांच होते ही कार्रवाई शुरू हो चुकी है। इसमें शिकायत करने वाले का नाम भी गुप्त रखा जाएगा।

शिक्षा पर विशेष ध्यान

शिक्षा व्यवस्था पर जोर देते हुए सीएम ने कहा कि जिले के 256 प्राथमिक विद्यालयों का रूपांतरण किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार आप लोगों से अलग नहीं है कंधे से कंधा मिलाकर ही हम बदलाव ला सकते हैं। काशीपुर में बहल पेपर मिल की तरफ से सात विद्यालयों का रूपांतरण किया गया है।

काशीपुर के रूपांतरण कार्यक्रम के तहत बने स्कूल मॉडल के रूप में काम करेगा। इससे प्रेरणा लेकर जिले में अन्य स्कूलों को बेहतर किया जाएगा।

जनता के साथ मिलकर काम

धामी ने कहा-यह आप की सरकार है समाज में बदलाव लाने के लिए सभी का साथ जरूरी है। सरकार एक सीमा तक काम कर सकती है लेकिन समाज जब मिलकर काम करेगा तो बेहतर परिणाम आएंगे। हमारा लक्ष्य है कि उत्तराखंड में पढ़ने वाले सभी बच्चों को हर मूलभूत सुविधाएं मिल सके।

परीक्षा पर चर्चा का उल्लेख

शिक्षा को लेकर पीएम नरेन्द्र मोदी कितने संवेदनशील है परीक्षा संवाद के दौरान देखने को मिला। जिस सरलता से उन्होंने बच्चों से परीक्षा पर उससे बच्चों के मन से परीक्षा का डर निकल गया। शिक्षा मूल्य समय से पहचानना होगा और एक बार समय निकल जाए तो वक्त दुबारा नहीं लौटता।

युवाओं पर सरकार का फोकस

हमारा लक्ष्य है तो बच्चों का यह स्वर्णीम समय में हम बेहतर से बेहतर सुविधा दे सके। हमने बच्चों के लिए खेल नीति के लेकर आए है युवाओं को बेहतर अवसर बन सके इसके लिए प्रयास किया जा रहा है इसमें बच्चों में अगर योग्यता है और किसी खेल में जाता है तो उसे पैसे के लिए किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना होगा। उनके रहने, खाने और आने जाने का व्यवस्था सरकार करेगी।

उत्तरखंड में आएंगे रिकार्ड पर्यटक  

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि इस बार पर्यटन के लिहाज से नए कीर्तिमान हासिल होने वाले हैं। चारधाम यात्रा मई के पहले सप्तााह से शुरू हो रहे हैं।

आलम यह है कि कई पर्यटक स्थलों पर होटलों की बुकिंग अगले दो माह तक फुल हो चुका है। दो साल कोविड के चलते यह उद्योग प्रभावित रहा है लेकिन इस बार कोई व्यवधान नहीं है सरकार की तरफ से सभी प्रकार से पानी, सड़क और बिजली की निर्वाध आपूर्ति पर फोकस करेंगे। यूपी से आने वाली मुरादबाद सड़क को बेहतर बनाने के लिए भी बात की जाएगी।

आने वाला दशक उत्तरखंड का 

पीएम मोदी का कहना है कि आने वाला दशक उत्तराखंड का दशक होगा। यानी की उत्तराखंड हर क्षेत्र में आगे जाएगा। 2025 में राज्य रजत जयंती के वर्ष पर हम हिन्दुस्थान के सर्वक्षेष्ठ राज्य बनेंगे। यह यात्रा कोई निजी यात्रा नहीं है यह हम सभी की यात्रा है कि हम सभी मिलकर यह प्रयास करें कि हर क्षेत्र में उत्तराखंड मे आगे बढ़े।