May 18, 2022 12:23 pm

‘बुलडोजर बाबा और मामा’ के बाद सीएम धामी बने ‘बुलडोजर दाज्यु’, पढ़िये पूरी खबर… 

देहरादून:  उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुलडोजर की कार्रवाई के चलते बुलडोजर बाबा कहलाते हैं, तो मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब बुलडोजर मामा कहलाने लगे हैं. ऐसे में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कैसे पीछे रहते. अतिक्रमण विरोधी अभियानों के कारण मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इन दिनों बुलडोजर दाज्यु कहलाने लगे है. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी अतिक्रमण को लेकर कई कार्रवाई कर रहे हैं. इस मुद्दे पर पुष्कर सिंह धामी का साफ कहना है कि जहां भी इल्लीगल कब्जे किए गए हैं वहां कार्रवाई की जा रही है. किसी भी तरह की कार्रवाई पर अगर कोई कानून को हाथ में लेकर कदम उठाता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी. आपको बता दें कि हल्द्वानी और हरिद्वार जनपद में कई जगह अतिक्रमण को लेकर सख्त कार्रवाई की गई है.

एक्शन मोड में पुष्कर सिंह धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दोबारा से प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. मुख्यमंत्री ने जहां पहले शिक्षा विभाग के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की वही मुख्यमंत्री ने आप कॉर्बेट नेशनल पार्क के डायरेक्टर के खिलाफ भी एक्शन लिया है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि अधिकारियों को पहले ही निर्देशित किया जा चुका है कि काम में गुणवत्ता नजर आनी चाहिए और किसी भी काम को लटकाने की मंशा से कार्य न करें. अगर कहीं भी कमी पाई जाएगी तो एक्शन सख्त लिया जाएगा.

गैंगस्टर यशपाल तोमर की 153 करोड़ की संपत्ति कुर्क

उत्तराखंड एसटीएफ ने राज्य गठन के बाद गैंगस्टर अधिनियम 1986 के अंतर्गत अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है. उत्तराखंड एसटीएफ ने गैंगस्टर यशपाल तोमर की 153 करोड़ 29 लाख की अचल-चल संपत्ति कुर्क की है. इसमें बुलेट प्रूफ फॉर्च्यूनर गाड़ी भी शामिल है. जिला मजिस्ट्रेट हरिद्वार के आदेश के बाद एसटीएफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उत्तर प्रदेश, दिल्ली और उत्तराखंड के हरिद्वार में सक्रिय गैंगेस्टर यशपाल तोमर की 153 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति कुर्क की. तोमर की संपत्ति कुर्की की कार्रवाई को अंजाम देने के लिए एसटीएफ की टीमें दूसरे राज्यों के लिए रवाना हो गई हैं. इस मामले में हरिद्वार, दादरी, बड़ोद, यूपी के लोनी और पूर्वी दिल्ली के प्रशासनिक अमले को गैंगस्टर तोमर की प्रॉपर्टी सीज करने के लिए नियुक्त किया गया है.