May 21, 2022 1:06 am

82 साल की इस बुजुर्ग ने जीते-जी करा ली अपनी तेरहवीं संस्कार और शांति भोज, कारण जानकार भौंचक्के रह जाएंगे आप

महोबा: कुलपहाड़ कस्बा के कठवरियापुरा मोहल्ला निवासी 82 वर्षीय मानकुंवर ने स्वयं अपना तेरहवीं संस्कार और शांति भोज भी करा दिया। इसमें उनके रिश्तेदार व पड़ोसी शामिल हुए।

मानकुंवर ने बताया कि उनकी ससुराल चरखारी तहसील के अकठौहां गांव में है। वह कई साल से अपने मायके कुलपहाड़ कस्बा के कठवरियापुरा मोहल्ला में रह रहीं हैं। पति तांतिया प्रसाद अहिरवार का निधन करीब दो साल पहले हो गया था। उनके कोई संतान नहीं है। वह घर पर अकेली ही रहकर खेतीबाड़ी का काम कराती हैं। भतीजे कल्लू व रामकिशोर ने बताया कि उन्हें दादी ने संदेश भेज कर बुलवाया था।

अचानक उनके दिमाग में यह बात आई कि कहीं उनकी मृत्यु हो गई तो उसके बाद होने वाले संस्कार पता नहीं कोई रिश्तेदार करेगा भी या नहीं। इसलिए मंगलवार को तेरहवीं संस्कार करके 13 ब्राह्मणों को दक्षिणा और दान दिया। पड़ोसी शिवकिशोर ने बताया, दादी के इस निर्णय से सभी चकित थे, लेकिन पूरा सहयोग किया।