May 16, 2022 11:00 am

केदारनाथ में बिजली गुल होने से नाराज़ हुए मुख्य सचिव, सचिव ऊर्जा और यूसीपीएल एमडी पर जताई नाराजगी, एग्जीक्यूटिव इंजीनियर को कर दिया निलंबित

देहरादून: चारों धाम में 24 घंटे बिजली आपूर्ति के दावों के बीच घंटों बिजली कटौती का मामला गरमा गया है। मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने मामले का संज्ञान लेते हुए सचिव ऊर्जा और यूसीपीएल एमडी पर नाराजगी जताई। उनके निर्देश पर यूपीसीएल के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर(ईई) को निलंबित कर दिया गया है। आदेश के बाद यूपीसीएल के एमडी अनिल कुमार ने केदारनाथ का दौरा किया और अधिकारियों व कर्मचारियों को चेताया कि किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
दरअसल, सरकार पहले से ही दावा कर रही है कि चारों धाम में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की गई है। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने से एक दिन पहले कई घंटे अंधेरा छाया रहा। कपाट खुलने के दिन फिर बिजली कटौती होने से श्रद्धालुओं को परेशानी उठानी पड़ी।

मामला मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु के संज्ञान में आया। उन्होंने सचिव ऊर्जा आर मीनाक्षी सुंदरम और यूपीसीएल के एमडी अनिल कुमार पर नाराजगी जताते हुए केदारनाथ में तैनात यूपीसीएल के ईई दशरथ चौधरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। उनकी जगह ईई मनोज कुमार को केदारनाथ की जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही यूपीसीएल के एमडी को निर्देश दिए कि वह मौके पर जाकर निरीक्षण करें ताकि विद्युत आपूर्ति बाधित न हो।

चारों धाम में विद्युत आपूर्ति पूरे समय सुचारू रहे: कुमार

आदेश के तहत शनिवार को ही यूपीसीएल एमडी अनिल कुमार केदारनाथ पहुंचे। उन्होंने यहां निरीक्षण किया और सभी मातहतों को चेताया कि किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि निश्चिततौर पर उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति देना यूपीसीएल के हर अधिकारी-कर्मचारी की जिम्मेदारी है। जहां भी परेशानी है, उसे तत्काल दूर किया जाएगा। अमर उजाला से बातचीत में यूपीसीएल के एमडी अनिल कुमार ने बताया कि करीब 130 किलोमीटर की लंबी बिजली लाइन है, जो कि पहाड़ और जंगलों के बीच से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि चारों धाम में विद्युत आपूर्ति पूरे समय सुचारू रहे।

चारधाम यात्रियों से बदसलूकी पर पुलिसकर्मी निलंबित

उत्तरकाशी के बड़कोट में चारधाम यात्रियों से बदसलूूकी का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल संज्ञान में आते ही मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने सख्त नाराजगी जताई। उन्होंने तत्काल कार्रवाई के आदेश दिए, जिसके बाद पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बड़कोट थाने में तैनात आरोपी पुलिसकर्मी अंकुर चौधरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। डीजीपी ने एसपी उत्तरकाशी को मामले की जांच के आदेश दिए। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि श्रद्धालुओं के साथ अराजक व्यवहार करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।