July 3, 2022 1:45 pm

बेटी बनी हत्यारिन : माँ ने फोन पर बात करने का किया विरोध, तो बेटी ने माँ को दे दी दर्दनाक मौत…

रायबरेली: उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एक बेटी ने ही अपनी मां को मौत के घाट उतार दिया. बेटी ने मां का कत्ल सिर्फ इसलिए कर दिया, क्योंकि वो उसके प्रेम प्रसंग में बाधा बन रही थी और उसका फोन छीन लिया था. मामला सरेनी थान क्षेत्र के सुरजीपुर गांव का है. पूरी घटना की इकलौती गवाह मृतक की बेटी ही थी, जिसने हत्या की पूरी कहानी ही पलट दी. हत्या करने के बाद उसने अपने पिता को एक मनगढ़ंत कहानी सुनाई कि किस तरह से पिता के विरोधी ने उसकी मां की हत्या कर दी. वही कहानी उसने पुलिस के सामने भी दोहरा दी. हत्या की सूचना के बाद  मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जब जांच शुरू की तो उन्हें परिवार के लोगों पर ही शक हुआ. महिला की हत्या घर के अंदर की गई थी और मौके से पुलिस को कई ऐसे सबूत मिले जिससे यह साफ हो गया कि कातिल घर का ही कोई शख्स है.

पुलिस ने परिवार के लोगों से पूछताछ शुरू की और सभी के मोबाइल फोन की जांच की तो सच्चाई सामने आ गई. शक होने पर जब पुलिस ने मृतक महिला की बेटी से सख्ती से पूछताछ की तो वो टूट गई और उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया. गिरफ्तार होने के बाद नाबालिग बेटी ने पुलिस के सामने हत्या की जो वजह बताई उसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे. उसने बताया कि उसकी मां फोन पर लड़कों से बातचीत करने के लिए मना करती थी, कई बार उन्होंने उसका फोन भी छीन लिया था.  आरोपी बेटी के मुताबिक मां उसे इसके लिए कई बार डांटती और पीटती भी थी जो उसे नागवार गुजरता था. एक दिन फिर मां से झगड़ा होने पर उसने सिलबट्टा से पीट-पीटकर हत्या कर दी.

पूछताछ के दौरान लड़की ने पुलिस को बताया कि वो अपने दोस्त से फोन पर बात करती थी और उसकी मां को यह पसंद नहीं था. इसी बात को लेकर उनके बीच झगड़ा हुआ था. पुलिस ने नाबालिग को गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह लखनऊ भेज दिया है. इस घटना को लेकर रायबरेली के एसपी  श्लोक कुमार ने बताया कि महिला की हत्या की सूचना प्राप्त हुई थी. पति के द्वारा दी गई शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया और उसमें मनीष नाम के  व्यक्ति को आरोपी बनाया गया. हालांकि जब जांच की गई तो मनीष का लोकेशन घटनास्थल पर नहीं मिला जिसके बाद परिवार पर ही शक बढ़ गया. उन्होंने कहा, गहनता से जांच की गई और सबूतों का अध्ययन किया गया तो पता चला कि महिला की हत्या उसकी बेटी के द्वारा की गई थी.