July 3, 2022 3:00 pm

खाद्य मंत्री का बयान – जितने अपात्र हटेंगे, उतने ही पात्र राशनकार्ड धारक जुड़ेंगे…

देहरादून: खाद्य मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अभियान (एनएफएसए) के अंतर्गत जिस गांव से जितने अपात्र हटेंगे, उतनी ही संख्या में वहां पात्रों के नाम जोड़े जाएंगे। फर्जी राशनकार्डों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान ‘अपात्रों को ना, पात्रों को हां’ के अंतर्गत अभी तक प्रदेश में 3167 राशनकार्ड समर्पित किए जा चुके हैं। इन कार्डों में शामिल 12,999 यूनिट अब सस्ते खाद्यान्न की पात्र नहीं रहेंगी। खाद्य, नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता मामले मंत्री रेखा आर्या ने मंगलवार को वर्चुअल माध्यम से विभागीय समीक्षा की। ‘अपात्रों को ना, पात्रों को हां’ योजना के अंतर्गत अभी तक की प्रगति रिपोर्ट की जानकारी भी उन्होंने ली। इस योजना को कारगर बनाने के लिए उन्होंने सुझाव आमंत्रित किए हैं।

एनएफएसए के अंतर्गत प्राथमिक परिवारों और अंत्योदय के राशनकार्डधारकों के साथ राज्य खाद्य योजना (एसएफवाइ) के अपात्र राशनकार्डों को हटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी पात्र का राशन अपात्र को लेने नहीं दिया जाएगा। कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि सभी सस्ता गल्ला दुकानों को राशनकार्डधारकों की सूची चस्पा करनी होगी। साथ ही पात्रता और अपात्रता के मानक सहित टोल फ्री नंबर-1967 और जिला पूर्ति अधिकारियों के दूरभाष नंबर की जानकारी देनी होगी।

उन्होंने कहा कि पात्रता के दायरे से बाहर होने वाले व्यक्ति स्वयं राशनकार्डों से अपना नाम कटा रहे हैं। ऊधमसिंह नगर जिले में प्राथमिक परिवारों की सूची में दर्ज 1151 राशनकार्डधारकों और 5152 यूनिट ने अपने नाम कटवा लिए। नगर निकायों के कूड़ा उठाने वाले वाहनों, रसोई गैस आपूर्ति वाहनों और पंचायत सचिवों के माध्यम से जनजागरण अभियान चलाया जाएगा। वर्चुअल बैठक में खाद्य सचिव व आयुक्त सचिन कुर्वे, अपर सचिव प्रताप शाह, अपर आयुक्त पीएस पांगती, देहरादून के जिला पूर्ति अधिकारी जसवंत सिंह कंडारी समेत सभी जिला पूर्ति अधिकारी उपस्थित रहे।