July 3, 2022 1:30 pm

साँप के काटने के बाद, महिला ने साँप को मार दिया मिलकर पति के साथ, लेकिन नहीं बच पाई महिला की जान…पढ़िये ये खबर  

कुमारडुंगी(चाईबासा): सही समय पर उपचार नहीं मिल पाने से कुमारडुंगी थाना क्षेत्र में सर्पदंस से एक महिला की मौत हो गई है। घटना बुधवार की शाम को घटी है। इसमें खंडकोरी गांव के दियुरी साईं टोला निवासी सुखदेव महाराणा की पत्नी लक्ष्मी महाराणा(30 वर्षीय) की मौत हो गई। उसे एक जहरीले सांप ने बाएं पैर में डसा था। सांप ने तब डसा जब वे बच्चों के साथ सोई थी। सांप के डसने के बाद पति-पत्नी ने सांप को खोजकर मार डाला। उसके बाद उसे स्वास्थ्य केन्द्र ले जाने के लिए गाड़ी की खोजबीन की, पर गाड़़ी नहीं मिला। सुखदेव के पास उतना पैसा भी नहीं था की पैसा देकर इलाज करा पाए। चार घंटा के इंतजार के बाद जब पत्नी की तबीयत अधिक बिगड़ी तो रात के 11 बजे सुखदेव ने 108 एम्बुलेंस को फोन किया। 108 एम्बुलेंस पहुंचने में एक घंटा देर हुई। जब पहुंची तो लक्ष्मी अपनी अंतिम सांसे गीन रही थी। उसे ले जाने के दौरान ही उसकी रास्ते में मौत हो गई।

जानकारी मिली की बुधवार के दिन लक्ष्मी गांव में ही काम कर रही थी। वहां से आकर अपने दो बच्चों व पति के लिए खाना बनाया। सभी खाना खा कर घर के अंदर जमीन में सो रहे थे। समय करीब सात बज रहे थे। सांप मुख्य द्वार होते हुए जाकर लक्ष्मी के बांए पैर में काट दिया। उसके बाद उसकी मृत्यु हो गई। सुखदेव का परिवार अत्यंत गरीब है। दो बेटा सात वर्षीय पवन महाराणा, पांच वर्षीय बादल महाराणा का लालन-पालन दोनों मिलकर करते थे। घटना में आर्थिक तंगी के कारण परिजन शव का पोस्टमार्टम नहीं करवाना चाहते थे। प्रखंड विकास पदाधिकारी ज्योति बंदना कुजुर ने पोस्टमार्टम के लिए जाने वाली गाड़ी में तेल भरवा दिया। खंडकोरी पंचायत के मुखिया प्रत्याशी शंकरी सिंकु परिजनों को सात सौ रुपया सहयोग किया। वहीं जिला परिषद सदस्य के प्रत्याशी राजेन्द्र हेम्ब्रम ने भी परिजनों को सहयोग किया। उसके बाद ही पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल चाईबासा ले जाया जा सका। इधर, अंचल निरीक्षक लखिंद्र मांझी घटना स्थल पहुंचकर घटना का जायजा लिया।