July 3, 2022 1:36 pm

पति दूसरी शादी के लिए लेने वाला था फेरे, पहली पत्नी पहुँच गई बच्चों के साथ, और बिगड़ गये हालात…

समस्तीपुर। पहली पत्नी को धोखा देकर दूसरी शादी रचाने की कोशिश एक युवक को भारी पड़ गई। शुक्रवार को शहर के थानेश्वर स्थान मंदिर में प्रेमिका के साथ शादी रचा रहे युवक की पहली पत्नी ठीक फेरे के वक्त पहुंच गई और हंगामा खड़ा कर दिया। महिला अपने स्वजनों के साथ शादी रुकवाने पहुंची थी। उसने नगर थाना में सूचना देकर पुलिस को भी बुला लिया। पीड़ित महिला की शिकायत पर नगर पुलिस ने आरोपित पति को हिरासत में ले लिया।

हथौड़ी थाना क्षेत्र के धोबियाही निवासी पीड़िता सुधा कुमारी ने बताया कि वर्ष 2009 में धोबियाही निवासी नरेश मंडल के पुत्र अरविद कुमार से हिदू रीति रिवाज से शादी हुई। उसका मायका शिवाजीनगर के दयाल गांव में है। दोनों परिवार की सहमति से यह विवाह संपन्न हुआ। उसे 11 वर्ष का एक पुत्र और 10 वर्ष की एक पुत्री है। अरविद बढ़ई का काम करते हैं। वह दरभंगा के एक निजी क्लीनिक में नर्स का काम करती है। शादी के बाद दोनों अपने अपने काम-काज में व्यस्त हो गए। वह दरभंगा में ही किराए का एक कमरा लेकर बच्चों के साथ रहने लगी। शुक्रवार को स्थानीय ग्रामीणों से सूचना मिली कि अरविद किसी दूसरी महिला के साथ विवाह कर रहा है। अपने दोनों बच्चे और परिवार के सदस्यों को लेकर वह थानेश्वर स्थान महादेव मंदिर पहुंची गई। जहां अरविद एक महिला के साथ शादी रचा रहा था। देखते ही वह आग बबूला हो गई और नगर थाना में शिकायत करते हुए पुलिस बुला ली।

पीड़िता की शिकायत पर नगर पुलिस ने आरोपित पति को हिरासत में ले लिया। पुलिसिया पूछताछ में अरविद ने बताया कि शादी के बाद सुधा दरभंगा के एक निजी क्लीनिक में नर्स का काम करने लगी। वह उसके साथ रहना नहीं चाहती थी। इसको लेकर कई बार पंचायत भी हुई, लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं निकला। जिसके बाद वह दूसरी शादी रचाने की ठान ली। थानाध्यक्ष अरुण राय ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।