August 18, 2022 10:02 pm

परिजनों ने जिसका किया अंतिम संस्कार, वह घर पर चरपाई पर बैठा मिला, पढ़िये कैसे हुआ ये चमत्कार ?

मिर्जापुर: उत्तर प्रदेश के मीरजापुर से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां पर परिवार वालों ने जिसका अंतिम संस्कार कर दिया था. वह जिंदा निकल गया,अचानक घर लौटकर आया मृत शख्स को जिंदा देखकर परिवार के लोग चौंक गए. घर वाले अंतिम संस्कार करके घर लौटे तो उन्होंने देखा कि जिसका अंतिम संस्कार किया गया वह चरपाई बैठा है.

भाई का शव समझकर किसी और का कर दिए अंतिम संस्कार 

दरअसल कोन भरूहवा गांव सब्जी मंडी के पास 12 मई को सड़क दुर्घटना में एक अज्ञात व्यक्ति का मौत हो गई थी. इसके बाद पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखवा दी. पुलिस शव का पहचान कराने में जुट गई. पहचान कराने के लिए पुलिस सोशल मीडिया का सहारा ली. मृतक का फोटो वायरल होने पर परिजन पहचान करने करने के बाद मोर्चरी पहुंचे.परिजनों ने शव को देखकर बताया कि यह मुन्नीलाल है भवानीपुर गांव का रहने वाला है .पिछले एक महीने से घर से बाहर घर से बाहर गया हुआ था.

घर पर बैठा था भाई 

शव का पहचान होने पर पुलिस विधिक कार्रवाई करते हुए शव का पहचान करने वाले परिजनों को सौंप दिया. बुधवार की रात शव का अंतिम संस्कार करने के बाद जब परिवार के लोग घर लौटे तो उनके घर पर लोगों की भीड़ लगी हुई थी. भीड़ के बीच में बैठे मुन्नीलाल को बात करते हुए देख कर अंतिम संस्कार कर लौटे लोगों की आंखें फटी की फटी रह गई.मुन्नी लाल के भाइयों ने बताया कि मृतक के चेहरे पर चोट लगा हुआ था  और चेहरा पूरी तरह से सूज गया था. मृतक का चेहरा और हुलिया भी बिल्कुल मुन्नीलाल के जैसा ही दिख रहा था.जिससे उसे अपना भाई समझ बैठे और शव का पहचान करते हुए अंतिम संस्कार कर दिया.

वहीं, जिंदा मुन्नी लाल ने बताया कि लगभग एक महीने से वह अपने घर से बाहर गया हुआ था और अपने रिश्तेदारों के यहां चुनार में रह रहा था.उसके पास मोबाइल फोन नहीं था. इसलिए उसकी परिजनों से बात नहीं हो पाई. इस संबंध में चौकी प्रभारी ने बताया कि मुन्नीलाल को पुलिस चौकी बुलाकर पूछताछ किया जा रहा है.