August 16, 2022 6:41 am

अग्निवीर को BJP ऑफिस में सिक्योरिटी गार्ड रखने की कही थी बात, कैलाश विजयवर्गीय को वरुण गांधी ने दिया जवाब, देखिये विजयवर्गीय की वीडियो…

नई दिल्ली: अग्निपथ योजना को लेकर लगातार विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। कई जगह हिंसक प्रदर्शन भी हुए हैं। इस बीच बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय का एक बयान आया है, जो काफी वायरल हो रहा है। इस बयान पर आपत्ति भी जताई जा रही है। अग्निपथ योजना का फायदा बताते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि बीजेपी के ऑफिस में सिक्योरिटी रखना है तो मैं अग्निवीर को प्राथमिकता दूंगा। भाजपा सांसद वरुण गांधी ने इस बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि जिस महान सेना की वीर गाथाएँ कह सकने में समूचा शब्दकोश असमर्थ हो, जिनके पराक्रम का डंका समस्त विश्व में गुंजायमान हो, उस भारतीय सैनिक को किसी राजनीतिक दफ़्तर की ‘चौकीदारी’ करने का न्यौता, उसे देने वाले को ही मुबारक। भारतीय सेना माँ भारती की सेवा का माध्यम है, महज एक ‘नौकरी’ नहीं।

एक तरफ छात्र हैं कि मान नहीं रहे तो दूसरी तरफ सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है कि नाराज छात्रों और युवाओं को मना लिया जाए। यही बड़ी वजह है कि सिर्फ 2 दिन में 5 मंत्रालयों ने अग्निवीरों को चार साल बाद नौकरी को लेकर एक के बाद एक फैसले लिए।

अग्निपथ स्कीम में अग्निवीरों की भर्ती के लिए वायुसेना ने डिटेल जानकारी अपनी वेबसाइट पर जारी कर दी है। इस डिटेल के अनुसार चार साल की सेवा के दौरान अग्निवीरों की वायुसेना की ओर से कई सुविधाएं दी जाएंगी जो स्थायी वायुसैनिकों को मिलने वाली सुविधाओं के अनुसार ही होगी। एयरफोर्स की वेबसाइट पर अपलोड की जानकारी के अनुसार अग्निवीरों को सैलरी के साथ हार्डशिप एलाउंस, यूनीफार्म एलाउंस, कैंटीन सुविधा और मेडिकल सुविधा भी मिलेगी. ये सुविधाएं ठीक उसी तरह से मिलेगी जो एक रेगुलर सैनिक को मिलती हैं।

अग्निवीरों के लिए एयरफोर्स का प्लान

  • 4 साल के लिए अग्निवीर भर्ती होंगे
  • 4 साल बाद 25% की नियुक्ति
  • भर्ती की उम्र साढ़े 17 से शुरू
  • अग्निवीरों का रैंक अलग होगा
  • महीने का वेतन 30 हजार रुपये
  • हर साल तय वेतन बढ़ोतरी
  • साल में 30 दिन छुट्टी मिलेगी
  • मेडिकल लीव की अलग व्यवस्था
  • सेवा काल में मृत्यु पर इन्श्योरेंस कवर
  • परिवार को करीब 1 करोड़ रुपये मिलेंगे
  • सेवा काल में ट्रैवल एलाउंस मिलेगा
  • CSD कैंटीन की भी सुविधा मिलेगी
  • सम्मान और अवॉर्ड के हकदार होंगे