July 3, 2022 1:39 pm

उत्तराखंड: वरिष्ठतम IAS राधा रतूड़ी बन सकती है ब्यूरोक्रेसी की बॉस, मौजूदा CS संधू जाएंगे केंद्र

देहरादून; राधा रतूड़ी जल्द ही डॉ.सुखबीर सिंह संधु की जगह नौकरशाही की नई BoSS यानि, Cheif Secretary बन रहीं। उनके नाम पर मुहर लग चुकी है। इस कुर्सी पर पहुँचने वाली वह उत्तराखंड की पहली महिला IAS अफसर होंगी। डॉ सुखबीर को प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में सचिव या Defence Secretary में से एक ओहदा मिलने वाला है। अधिक उम्मीद रक्षा सचिव बनाए जाने की है। 1988 बैच की राधा All India Civil List के लिहाज से प्रदेश की सबसे Senior IAS अफसर हैं। Cadre परिवर्तन के कारण वह अपने बैच में सुखबीर (1988 बैच) से नीचे हो गईं। अभी वह ACS (CM-Home) और तमाम अन्य जिम्मेदारियों को संभाले हुए हैं। 57 वर्ष की राधा के पास बतौर मुख्य सचिव काम करने के लिए पर्याप्त वक्त रहेगा। उनका Retirement 6 मार्च 2024 को है।

सुखबीर सन्धू 6 जुलाई 2023 को Retire होंगे। वह रक्षा सचिव बनाए जाते हैं, जिसकी उम्मीद अधिक जतलाई जा रही है तो उनको सेवा विस्तार मिल जाएगा। Cabinet Secretary और सेना-नौसेना-वायु सेना प्रमुख-वित्त-गृह सचिव-IB और  RAW  चीफ़ की तरह रक्षा सचिव को भी दो साल का सेवा विस्तार देने का प्रावधान है। कम से कम 2 साल का कार्यकाल भी तय है। ऐसे में डॉ सुखबीर को रक्षा सचिव बनने का फायदा मिल सकता है।

उम्मीद है कि सुखबीर का केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर जाने की Call कभी भी आ सकती है। इसके आते ही राधा नौकरशाही की नई मुखिया बन जाएंगी। वह Senior Most IAS होने के साथ ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की शीर्ष पसंद भी हैं। विवादों से कभी नाता नहीं रहा है। साथ ही अपने बर्ताव व सादगी-सरलता के लिए भी लोकप्रिय हैं। बाकी दो अन्य ACS मनीषा पँवार (1990 बैच) और आनंदबर्द्धन (1992 बैच) उनसे काफी नीचे हैं।

राधा के CS बनते ही उत्तराखंड के लिहाज से दो नए रेकॉर्ड एक साथ बन जाएंगे। वह न सिर्फ पहली महिला CS होंगी, बल्कि वह और उनके पति अनिल रतूड़ी (IPS Cadre से retire) ऐसे दंपत्ति होंगे, जो अपने-अपने Cadre में राज्य में Top (HoD) पर पहुंचेंगे। अनिल DGP बन के रिटायर हो चुके हैं। मुख्य सचिव की कुर्सी पर राधा के बैठते ही नौकरशाही में फिर फेरबदल होगा। उनके पास मौजूद गृह विभाग किसी वरिष्ठ अफसर को देना होगा।

वरिष्ठता के लिहाज से ACS मनीषा पँवार-आनंदबर्द्धन और प्रमुख सचिव RK सुधांशु हैं, लेकिन मनीषा अस्वस्थ हैं। बाकी दोनों नामों पर CM की सहमति बनती है या नहीं, कहा नहीं जा सकता है। ये भी तकरीबन तय है कि उनको CMO भी छोड़न होगा। अभी वह ACS (CM) भी हैं। CS के CMO में रहने की परंपरा आमतौर पर नहीं होती है।

बेशक कुछ वक्त के लिए M Ramchandran और सुभाष कुमार ने दोनों जिम्मेदारियाँ संभाली थीं। CS की कुर्सी में बदलाव से इतर CM IAS और IPS के साथ ही PCS-PPS अफसरों में भी बदलाव के मूड में हैं। मुमकिन है कि हफ्ते भर में शीर्ष स्तर पर बदलाव के साथ ही ये सब भी हो जाएंगे। इनमें तकरीबन हर स्तर के नौकरशाह शामिल हो सकते हैं।