August 18, 2022 10:02 pm

यूपी में रिश्वत लेने में राजस्व विभाग अव्वल, दूसरे नंबर पर पुलिस वाले, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

आगरा:  उत्तर प्रदेश में रिश्चत लेने के मामले में राजस्व विभाग पहले और पुलिस दूसरे नंबर पर है। एंटी करप्शन ब्यूरो के आंकड़े भी यही कहते हैं। विभाग द्वारा पांच वर्ष 2017 से 15 जून 2022 के दौरान 337 सरकारी कर्मचारियों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों दबोचा। जिसमें सबसे ज्यादा 132 आरोपित राजस्व विभाग के हैं। जबकि 45 आरोपित पुलिसकर्मी हैं। एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस साल जनवरी ने 15 जून के दौरान 29 लोगों को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। जिसमें 12 आरोपित राजस्व विभाग एवं छह पुलिसकर्मी हैं।

एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा साल दर साल की गई कार्रवाई 

-वर्ष 2021: 41 आरोपित रंगे हाथों गिरफ्तार

वर्ष 2020: 34 आरोपित रंगे हाथों गिरफ्तार

वर्ष 2019: 100 आरोपित रंगे हाथों गिरफ्तार

वर्ष 2018: 80 आरोपित रंगे हाथों गिरफ्तार

वर्ष 2017: 52 आरोपित रंगे हाथों गिरफ्तार

इन विभागाें में रिश्चत मांगने वालों पर हुई कार्रवाई  

राजस्व विभाग, पुलिस विभाग, शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग। नगर निगम, विद्युत विभाग, विकास प्राधिकरण प्रमुख हैं। एंटी करप्शन ब्यूरो ने साढ़े पांच साल के दौरान रिश्चत की रकम में दिए 57 लाख रुपये से अधिक रकम पकड़ी।

अलीगढ समेत अन्य रेंज में कार्यालय खोलने की तैयारी

एंटी करप्शन ब्यूरो की वर्तमान में आगरा समेत 11 जिलों में रेंज कार्यालय है। सरकार को अलीगढ, प्रयागराज, सहारनपुर, बांदा, गोंडा, मिर्जापुर, आजमगढ़ और बस्ती में भी रेंज कार्यालय खोलने का प्रस्ताव भेजा गया है।

जून में 12 लोग रिश्चत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार  

29 जून: झांसी में एबीएसए कार्यालय में तैनात कर्मचारी दो हजार रुपये रिश्चत के साथ

29 जून: महाराजगंज में राजस्व निरीक्षक पांच हजार रुपये रिश्चत के साथ

28 जून: अयोध्या में राजस्व निरीक्षक को तीन हजार रुपये के साथ

21 जून: शाहजहांपुर में राजस्व विभाग का कर्मचारी रिश्वत के साथ

21 जून: प्रतापगढ़ में राजस्व विभाग का कर्मचारी रिश्वत के साथ

17 जून: बस्ती में राजस्व निरीक्षक को दस हजार रुपये के साथ

15 जून: लखनऊ में दारोगा को पांच हजार रुपये के साथ

15 जून: कन्नौज में लेखपाल को दस हजार रुपये के साथ

14 जून: चंदौली में राजस्व निरीक्षक को दस हजार रुपये रिश्चत के साथ

10 जून: आगरा में जिला उद्योग केंद्र का कर्मचारी 11 हजार रुपये रिश्वत के साथ

10 जून: हमीरपुर में दारोगा दस हजार रुपये रिश्चत के साथ

7 जून: गौतमबुद्ध नगर में दारोगा 30 हजार रुपये के साथ

किसी विभाग के कर्मचारी द्वारा रिश्चत मांगी जाती है तो पीड़ित हेल्पलाइन नंबर 9454400315 एवं 9454402484 पर शिकायत करें। एंटी करप्शन विभाग द्वारा भ्रष्टाचारी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

राजीव मल्होत्रा  एसपी/डीआइजी एंटी करप्शन

साभार – जागरण