August 12, 2022 2:38 am

भाई ने कराई भाई की हत्या, कातिलों ने पाप धोने के लिए मंदाकिनी में डुबकी लगाई, पढ़िये अनोखे क़ातिल और शातिर भाई की चाल…

लखनऊ: विश्व में कत्ल और कातिलों के आपने एक से बढ़कर एक केस देखे और सुने भी होंगे, लेकिन कानपुर  में कातिलों का एक ऐसा रंग देखने के लिए मिला है जिसे जानकार उनको गिरफ्तार करने वाली पुलिस के भी होश उड़ गए. दरअसल इन कातिलों ने पहले एक भाई से एक लाख की सुपारी लेकर उसके भाई को मौत के घाट उतार दिया. क़त्ल के आरोपियों को बाद में अपने पाप का ऐसा पश्चताप हुआ कि कत्ल का पाप धोने के लिए पवित्र धाम चित्रकूट जा पहुंचे. वहा मंदाकिनी में नहाकर भगवान के दर्शन भी कर लिए. लेकिन चित्रकूट से लौटते ही इनको पुलिस ने हिरासत में ले लिया. हैरानी इस बात कि भी है कि ये कत्ल मृतक के सगे भाई ने सिर्फ इसलिए करवाया था, क्योंकि वह उसकी साली से शादी करने का मन बना लिया था. दो दिन बाद उसका तिलक समारोह भी था.

चारों को गौशाला कर्मचारी लालू यादव के कत्ल के इल्जाम में हिरासत में लिया गया था. ये कत्ल 25 जून की रात को हुआ था. जिसे लालू के सगे भाई राजन यादव ने सुशील को एक लाख की सुपारी देकर करवाया था. एसपी आउटर तेज स्वरूप सिंह का बोलना है राजन की साली से लालू शादी करने जा रहा था. इससे राजन नाराज था, इसलिए उसने सुपारी देकर सुशील को मरवा दिया.

लालू की 27 जून कजो विवाह  का तिलक समारोह था. जबकि 25  की रात सुशील ने उसको गोली मारी गई. ये बात राजन ने उसे पहले बता दी थी कि रात को गौशाला से लालू लौट कर आता. सुशील का घर भी लालू के घर के पास था. एक प्लाट के विवाद में सुशील की मां से लालू ने मारपीट  भी शुरू कर दी थी. इससे वह पहले से नाराज था. खबरों का कहना है इसलिए एक लाख की सुपारी मिलते ही वह लालू के कत्ल को तैयार हो चुका था. सुशील का बोलना है कि हत्या के उपरांत  हम चित्रकूट गए. वहां नहाकर दर्शन किये फिर कानपुर आये. जबकि भाई राजन अब यह सफाई दे रहा है कि मेरी साली से उसकी शादी हो रही थी. मैं तो तैयार था.