August 18, 2022 11:15 pm

प्रीतम – हरीश मे खिंचतान, कप्तान ने संभाली कमान, बोले – आरोप – प्रत्यारोप से पार्टी को होगा नुकसान…

देहरादून: उत्तराखंड कांग्रेस मे अभी बीते विधानसभा चुनव मे हुई करारी हार थमी भी नहीं थी की 2016 मे कांग्रेस से गए विधायकों पर रार शुरू हो गई है आपको बता दें की पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व कांग्रेस के पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह के बीच रार-तकरार जारी है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रीतम सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि एक व्यक्ति से द्वेष के कारण वर्ष 2016 में उत्तराखंड के लोकतांत्रिक इतिहास के गौरवमयी पृष्ठ पर स्याही डालना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि इस तरह की बातों से यह आभास होता है कि वर्ष 2016 में हुआ दलबदल भाजपा के कृत्यों की वजह से नहीं, बल्कि कांग्रेस के आंतरिक द्वंद्व का परिणाम है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को इंटरनेट मीडिया में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रीतम सिंह के उस बयान का जवाब दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस में बगावत को हरीश रावत जिम्मेदार हैं।

फिलहाल कांग्रेस उत्तराखंड मे आरोप – प्रत्यारोप से जूझ रही है और आरोप – प्रत्यारोप पार्टी के आम कार्यकर्ताओं के बीच नहीं बल्कि कांग्रेस के उन दिगज्जों के बीच जारी है जिनके कंधों पर उत्तराखंड कांग्रेस खड़ी है। वहीं पूरे मामले मे अब हरीश रावत और प्रीतम के बीच विवाद थामने के लिए कप्तान ने एंट्री मार दी है जी है कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा ने वरिष्ठ नेताओं से संयम बरतने की अपील की है माहरा का कहना है की जब कांग्रेस के दिग्गज आरोप प्रत्यारोप करेंगे तो इससे आम कार्यकर्ता का मनोबल टूटेगा और पार्टी को नुकसान होगा लिहाजा माहरा ने दोनों वरिष्ठ नेताओं को अपनी ज़ुबान पर लगाम लगाने की हिदायत दी है। वहीं भाजपा का कहना है की सत्ता से बाहर रहने के बाद कांग्रेस छटपटाती है और आपस मे ही लड़ती है और वही हो रहा है आपस मे कीचड़ उछाली जा रही है। और कांग्रेस मे कभी अतर्कलह खत्म नहीं हो सकती।