August 16, 2022 7:28 am

कुत्ता बना कातिल, 80 साल की मालकिन का पिट्बुल ने नोच नोचकर किया कत्ल, इस हिंसक नस्ल से रहें सावधान,कई देशों में है इसे पालने पर प्रतिबंध

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बंगाली टोला इलाके में दुनिया के कुत्ते की सबसे खूंखार नस्ल पिटबुल कुत्ते के हमले में मालकिन की मौत की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जानकारी के मुताबिक बंगाल टोला इलाके में रहने वाली 80 साल की महिला को उनके पालतू कुत्ते ने नोच-नोचकर बुरी तरह जख्मी कर दिया। महिला के पास पिट बुल (Pitbull Dog) नस्ल का कुत्ता था जो सबसे खूंखार कुत्ता माना जाता है। महिला को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया जहां से उन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक बंगाली टोला में रहने वाली सुशीला त्रिपाठी ने पिटबुल और लैबराडोर प्रजाति के दो कुत्ते घर में पाल रखे थे। सुशीला दोनों कुत्तों को खाना देती और उनके साथ खेलती थीं। दोनों कुत्ते महिला के बेटे अमित त्रिपाठी के कमरे में रहते थे। मंगलवार को कुत्ता खुला रह गया। अमित ने सुबह पांच बजे देखा कि पिटबुल नस्ल का कुत्ता उनकी मां को नोच रहा है। पिटबुल ने उसकी मां के पेट और चेहरे पर बुरी तरह काटा था। आनन-फानन में वो अपनी मां को लेकर अस्पताल पहुंचे जहां से उन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया लेकिन ट्रामा सेंटर में मां ने दम तोड़ दिया।

पिटबुल दुनिया का सबसे खतरनाक किस्म का कुत्ता माना जाता है। कई देशों में तो पिटबुल को पालना भी बैन है। पिटबुल व्यवहार से काफी हिंसक होते हैं इसलिए उन्हें कई देशों में पालना मना है। भारत में खास तौर पर राजस्थान में पिटबुल को लोग टशन में पालते हैं लेकिन पिटबुल नस्ल के कुत्ते को पालना कितना खतरनाक हो सकता है उसकी ये ताजा मिसाल है।

केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर के सीएमएस डॉ. संदीप तिवारी ने बताया कि सुबह साढ़े नौ बजे 80 वर्षीय बुजुर्ग को ट्रॉमा सेंटर लाया गया था। बुजुर्ग की हालत काफी गंभीर थी। कुत्ते के काटने से बुजुर्ग के शरीर में गहरे घाव हो गए थे। खून काफी बह गया था। बुजुर्ग को बचाने की कोशिश की गई। वेंटिलेटर पर भी रखा गया। कुछ ही समय बाद महिला का निधन हो गया।