August 12, 2022 2:46 am

‘आबादी बढ़ने से अराजकता नहीं होती..’, जनसँख्या नियंत्रण पर योगी को अखिलेश ने दिया ज्ञान

लखनऊ: विश्व जनसंख्या दिवस पर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा दिए गए बयान को लेकर सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सीएम योगी उस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है, जिसमें उन्होंने एक ही वर्ग की आबादी बढ़ने से आराजकता पैदा होने की बात कही गई है। अब अखिलेश ने कहा है कि अराजकता आबादी से नहीं बल्कि लोकतांत्रिक मूल्यों की बर्बादी से पैदा होती है।

उल्लेखनीय है कि सीएम योगी ने सोमवार को विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर कहा था कि एक ही वर्ग की जनसँख्या बढ़ने से अराजकता पैदा होगी। इसलिए जनसंख्या का असंतुलन नहीं होना चाहिए। योगी के इसी बयान पर पहले सपा सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क ने हमला बोला और सीधे सरकार को कई प्रकार की नसीहतें दे डाली थीं। अब सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट के जरिये सीएम योगी पर निशाना साधा है।

अखिलेश ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘अराजकता आबादी से नहीं, लोकतांत्रिक मूल्यों की बरबादी से उपजती है।’ अब अखिलेश के इस ट्वीट के कई सियासी अर्थ निकाले जा रहे हैं। अखिलेश ने लोकतांत्रिक मूल्यों की बरबादी का बातें कहकर सरकार पर निशाना साधा है। बता दें कि अखिलेश लगातार योगी सरकार पर इस प्रकार के जुबानी हमले कर रहे हैं। रामपुर और आजमगढ़ में हुए उपचुनाव में करारी शिकस्त मिलने पर भी अखिलेश ने सीएम योगी और भाजपा पर इसी तरह के हमले किये थे।

क्या बोले थे सीएम योगी ?

बता दें कि सीएम योगी जनसंख्या दिवस पर सोमवार को कहा था कि जिन देशों की जनसंख्या अधिक होती है, वहां जनसांख्यकीय असंतुलन चिंता का सबब बन जाता है। क्योंकि धार्मिक जनसांख्यिकी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है, तो एक समय के बाद वहां अव्यवस्था, अराजकता जन्म लेने लगती है। इसलिए जनसंख्या स्थिरीकरण की कोशिशों से सभी मत मजहब, वर्ग, सम्प्रदाय पर एक समान रूप से जोड़ा जाना चाहिए। अखिलेश यादव ने सीएम योगी की इसी बात को लेकर उनपर हमला बोला है।