August 12, 2022 2:04 am

मुस्लिम युवक ने काँवड़ लाने के लिए DM से लगाई सुरक्षा की गुहार, शरारती लोग कर रहे परेशान

लखनऊ: धर्म और जाति के आधार पर भेदभाव वालों के लिए उत्तर प्रदेश के शामली जिले के वकील मलिक एक करारा जवाब हैं। मुस्लिम होने के बावजूद वह भगवान शिव के भक्त हैं। वह लगातार पांच वर्षों से हरिद्वार से गंगाजल लेकर पैदल कांवड़ यात्रा करके अपने गांव के मंदिर में शिवजी पर जल चढ़ाते हैं। हालांकि उन्हें इस वर्ष कांवड़ यात्रा के दौरान उन्हें अपनी सुरक्षा की चिंता सताने लगी है। उन्होंने जिलाधिकारी से सुरक्षा की गुहार लगाई है। शामली जिले के गांव भैंसवाल निवासी वकील मलिक ने बुधवार को जिलाधिकारी जसजीत कौर से सुरक्षा की गुहार लगाई है। उनका कहना है कि वह छठी बार कांवड़ लाना चाहते हैं, लेकिन गांव के कुछ शरारती तत्व परेशान कर रहे हैं इसलिए सुरक्षा की जरूरत है। वह पहले भी पांच बार कांवड़ ला चुके हैं।

वकील मलिक ने बुधवार को कलक्ट्रेट में पहुंचकर डीएम जसजीत कौर को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि वह मुस्लिम धर्म से हैं, लेकिन वह भगवान शिव में आस्था रखते हैं। परिवार की सुख-शांति के लिए पिछले पांच सालों से लगातार कांवड़ लाकर गांव भैंसवाल के मंदिर में गंगाजल चढ़ाते हैं और शिव का जलाभिषेक करते हैं। इस बार भी वह कांवड़ लाना चाहते हैं, लेकिन गांव व आसपास के कुछ शरारती तत्व आपत्ति कर रहे हैं। वकील मलिक ने आशंका जताई है कि गांव के कुछ शरारती लोग उसे परेशान कर सकते हैं। उन्होंने डीएम से सुरक्षा व्यवस्था करने व शरारती तत्वों को उसको व उसके परिवार को परेशान नहीं करने की सख्त हिदायत देने की मांग की है।

वकील का कहना है कि उसके इस कार्य से उनके परिवार वाले काफी खुश हैं और कावड़ यात्रा के माध्यम से वह समाज में यह संदेश देना चाहता है कि देश में सभी को सांप्रदायिक सौहार्द बना कर रखना चाहिए। वकील ने बताया कि डीएम जसजीत कौर की ओर से उनको सुरक्षा और जरूरी कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है।