August 19, 2022 7:08 pm

अखिलेश को ज़ोर का झटका देकर धीरे से खिसक लिए राजभर, अपने 6 विधायकों से कराएंगे एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में मतदान…

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करने वाली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने सहयोगी को तगड़ा झटका दिया है। राष्ट्रपति पद के चुनाव में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सभी छह विधायक एनडीए की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में मतदान करेंगे। लखनऊ में शुक्रवार को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने इसकी घोषणा की। पहले ओम प्रकाश राजभर को 12 जुलाई को अपने विधायकों का स्टैंड घोषित करना था, लेकिन तीन बाद उन्होंने यह घोषणा कर समाजवादी पार्टी को चौंका दिया है । ओम प्रकाश राजभर ने राष्ट्रपति चुनाव में सुभासपा के एनडीए पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट करने की घोषणा की। राजभर ने समाजवादी पार्टी को जोरदार झटका दिया है। सपा संयुक्त विपक्ष के प्रत्याशी तृणमूल कांग्रेस के यशवंत सिन्हा के पक्ष में मतदान कर रही है। राजभर ने कहा कि हमने राष्ट्रपति पद के चुनाव को लेकर अपने विधायकों से बात की है। मैं तो आठ जुलाई को मुख्यमंत्री के आवास पर डिनर पार्टी में गया था।

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और द्रौपदी मूर्मू जी ने समर्थन मांगा था। हमारे पास तो केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह का फोन भी आया था, मेरी उनसे भी मुलाकात हुई। उन्होंने भी द्रौपदी मुर्मू जी के लिए समर्थन मांगा है। फिलहाल राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए हम द्रौपदी मुर्मू का समर्थन कर रहे हैं। अभी मैं समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में हूं मैंने अपनी तरफ से गठबंधन नहीं तोड़ा है। राजभर ने कहा कि मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी हमारी पार्टी के विधायक हैं। वह भी द्रौपदी मुर्मू को वोट करेंगे। मैने इस बारे में मुख्यमंत्री और अमित शाह को भी अवगत करा दिया है। हमारे पार्टी के चुनाव चिह्न से जीते सभी छह विधायक हमारे साथ हैं। राजभर ने कहा कि हम लोग तो पार्टी बनाकर समाज की लड़ाई लड़ रहे हैं।

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने मुझे बुलाकर कहा कि आप पिछड़े, दलित, वंचित की लड़ाई लड़ते हैं। आप द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करें। मैंने उनसे मुलाकात की। जिसके बाद गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात हुई। उनसे बात होने के बाद हमने द्रौपदी मुर्मू को समर्थन का ऐलान किया है।

इसके साथ ही ओम प्रकाश राजभर ने गाड़ी को लेकर भी अखिलेश यादव पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि मुझे जानकारी नहीं कि मुझे फॉर्च्यूनर दी गई। वह गाड़ी देकर अगर हमको अपने पक्ष में करना चाहते हैं तो शायद उनको पता नहीं है कि ओम प्रकाश राजभर को पकडऩा कठिन काम है। कौन सी फॉर्च्यूनर मुझे दी इसकी तो जानकारी नहीं है।

राजभर ने कहा कि अखिलेश यादव जी के नवरत्न अपना बूथ नहीं जीत पाते हैं। आजमगढ़ के साथ रामपुर लोकसभा के उप चुनाव इसके प्रमाण हैं। आजमगढ़ में तो उनका एक भी रत्न दिखाई नहीं दिया। अखिलेश जी को मेरी सलाह बुरी लगती है तो मैं सपा को अब सलाह नहीं दूंगा। राजभर ने कहा कि समाजवादी पार्टी के नेता को हमारी जरूरत नहीं है। प्रेस वार्ता में जयंत चौधरी को बुला लेते हैं, लेकिन ओपी राजभर को न बुलाना। राज्यसभा चुनाव आया तो राज्यसभा जयंत चौधरी को दे देना, विधान परिषद सदस्य चुनाव में हमें न पूछना। उनकी तरफ से नजरअंदाज करने वाली चीजें हो रही हैं।