August 18, 2022 11:16 pm

उत्तराखंड में हरेला लोकपर्व शुरू, सीएम धामी ने किया शुभारंभ, धामी बोले – सूखता नहीं है इस लोकपर्व पर लगाया पौधा

देहरादून: देवभूमि उत्तराखंड में आज से हरेला लोकपर्व का उत्सव शुरू हो गया है। हरेला उत्तराखंड का लोक पर्व ही नहीं बल्कि हरियाली का प्रतीक भी है। मान्यता है कि हरेला पर्व पर लगाया पौधा सूखता नहीं है। हरेला पर्व पर इस बार भाजपा प्रदेशभर में पौधरोपण का अभियान चलाकर पांच लाख पौधे रौपेगी। प्रकृति के संरक्षण का यह अभियान भाजपा ने 23 जून से शुरू किया था। शनिवार को वन विभाग द्वारा आयोजित पौधरोपण कार्यक्रम में पौधरोपण के बाद सीएम धामी ने कहा कि देहरादून को क्लीन सिटी ग्रीन सिटी बनाने का अभियान शुरू किया गया है। संस्थाओं द्वारा वृक्षारोपण का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है और यह कार्यक्रम अगले एक महीने तक चलेगा।  हरेला पर्व पर इस बार भाजपा प्रदेशभर में पौधरोपण का अभियान चलाकर पांच लाख पौधे रौपेगी। प्रकृति के संरक्षण का यह अभियान भाजपा ने 23 जून से शुरू किया था। वहीं आज प्रदेशभर में हरेला पर्व मनाया जा रहा है। बच्चे, बूढ़े, जवान सभी लोग पौधरोपण कर रहे हैं।

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हरेला पर्व प्रकृति के संरक्षण का त्योहार है। धामी ने कहा कि उनका प्रयास है कि हरेला पर्व में जन-जन की भागीदारी हो और आने वाली पीढ़ी भी इसकी भागीदार बने। हमें पौधे रोपने तक ही सीमित नहीं रहना है वरन उनके संरक्षण एवं संवर्धन भी ध्यान देना होगा।  हरेला पर्व को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि यह हम सभी की जिम्मेदारी है और इस जिम्मेदारी का सभी को निष्ठा के साथ निर्वहन करना है। हरेला पर्व पर को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जो भी इस हरेला में वृक्षारोपण करे उसे सिर्फ वृक्षा रोपण तक ही नही बल्कि उस पौधे के संरक्षण और संवर्धन की भी ज़िम्मेदारी लेनी होगी जिससे पर्यावरण का भी संरक्षण हो सके ।

आपको बता दें कि प्रदेश भर में 16 जुलाई से हरेला पर्व मनाया जाएगा और यह आगामी 1 महीने तक चलता रहेगा,इस हरेला पर्व पर जन सहभागिता बढ़ सके इसके लिए सरकारी विभागों के साथ साथ सभी व्यक्तियों को भी इस पर्व पर जोड़ने की भी सरकार की तरफ अपील की गयी है । साथ ही कांवड़ यात्रा में आ रहे यात्रियों से भी प्रति व्यक्ति एक पौधा लगाने की अपील भी मुख्यमंत्री ने की है