August 16, 2022 6:25 am

“बादल फटने के पीछे विदेशी साजिश” बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर बोले CM केसीआर, बीजेपी ने कसा तंज

हैदराबाद : तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (KCR) ने रविवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया. बाढ़ की मार झेल रहे भद्राद्री कोठागुडेम जिले का सर्वे कर केसीआर ने अजीबोगरीब बयान दे डाला. केसीआर ने कहा कि राज्य के उत्तरी हिस्से में लगातार हो रही बारिश में कुछ गड़बड़ है. ‘विदेशी साजिश’ का आरोप लगाते हुए केसीआर ने कहा कि गोदावरी नदी के किनारे बादल फटने की घटनाएं हुई हैं.  बाढ़ के खतरे से स्थायी समाधान के लिए पहाड़ी इलाकों में कॉलोनियां बनाने के लिए शहर के पुनर्वास पैकेज के रूप में राव ने 1,000 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘बादल फटने का एक नया तरीका आया है. इसके पीछे कोई साजिश है. हमें नहीं पता कि यह कितना सच है. कुछ देश हमारे देश में बादल फटने की घटना को अंजाम दे रहे हैं. इससे पहले उन्होंने इसे लेह (लद्दाख) में अंजाम दिया था. बाद में उत्तराखंड में.हमें ऐसी ही कुछ जानकारियां गोदावरी बेसिन के लिए भी मिली हैं. जलवायु परिवर्तन के कारण इस प्रकार की आपदाएं आती हैं. हमें अपने लोगों की रक्षा करनी होगी.’

खतरा अभी टला नहीं है: सीएम

अधिकारियों से बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्यों की जानकारी लेने के बाद केसीआर ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति लगातार हो रही बारिश का नतीजा है. मौसम विभाग और कुछ प्राइवेट अनुमान लगाने वालों के मुताबिक यह स्थिति (भारी बारिश) 29 जुलाई तक जारी रह सकती है. इसलिए खतरा अभी टला नहीं है.’ केसीआर ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे राहत कैंप से लोगों को वापस न भेजें. हमें उनका ख्याल रखना है.

बीजेपी ने कसा तंज

केसीआर के बादल फटने वाले बयान को बीजेपी ने सदी का सबसे बड़ा मजाक बताया है.तेलंगाना बीजेपी के अध्यक्ष और करीमनगर से सांसद बंदी संजय कुमार ने कहा कि अपनी नाकामयाबी छिपाने के लिए केसीआर ड्रामा कर रहे हैं. तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष ने आगे केसीआर पर आरोप लगाते हुए कहा कि सीएम लोगों का ध्यान कालेश्वरम परियोजना के ‘डूबने’ से हटाने की कोशिश कर रहे हैं और एक विदेशी साजिश की बात कह रहे हैं. तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और पार्टी के सांसद एक रेवती ने कहा कि अगर केसीआर के पास बादल फटने के पीछे विदेशी साजिश की सूचना है तो उसे इंटेलिजेंस ब्यूरो, रॉ और केंद्र सरकार को देनी चाहिए. यह मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी है.

बाढ़ प्रभावितों के लिए क्या हैं इंतजाम

राव ने मुलुगु, भुपालपल्ली, कोठागुडम, महबूबाबाद और निर्मल जिला प्रशासनों को बाढ़ राहत सहायता के रूप में तुरंत एक-एक करोड़ रुपये जारी किए जाने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री केसीआर ने वित्त मंत्री हरीश राव को बाढ़ का सितम झेल रहे लोगों के लिए चिकित्सा शिविर लगाने, पर्याप्त दवा-भोजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा है. उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को गोदावरी नदी में लगातार जारी बाढ़ के मद्देनजर कुछ और दिन सतर्क रहने को कहा. सीएम ने गोदावरी में बाढ़ के दौरान लोगों को सुरक्षित रखने और निचले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने करने के लिए सर्वेक्षण करने पर जोर दिया. उन्होंने सुझाव दिया कि अधिकारी इस संबंध में सिंचाई विभाग के रिटायर्ड इंजीनियरों की सलाह लें.