August 12, 2022 1:55 am

चाचा-भतीजे की टूटी जोड़ी, सपा की राजभर और शिवपाल को सलाह “जहां मिले सम्मान वहां करें प्रस्थान”

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने शनिवार को दो पत्र जारी कर उत्तर प्रदेश की राजनीति में खलबली मचा दी है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी पार्टी के साथ अपनी पार्टी का गठबंधन करने वाले शिवपाल सिंह यादव और ओम प्रकाश राजभर को समाजवादी पार्टी ने फ्री कर दिया है। ओम प्रकाश राजभर के बाद शिवपाल सिंह यादव ने भी समाजवादी पार्टी को धन्यवाद ज्ञापित किया है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह ने समाजवादी पार्टी के गठबंधन से मुक्त होने का आफर मिलने पर कहा कि मैं वैसे तो सदैव से ही स्वतंत्र था। शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी का पत्र जारी होने के बाद एक ट्वीट से अपनी बात कही है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि आज समाजवादी पार्टी का पत्र जारी कर मुझे औपचारिक स्वतंत्रता देने के लिए सहृदय धन्यवाद। राजनीतिक यात्रा में सिद्धांतों एवं सम्मान से समझौता अस्वीकार्य है। समाजवादी पार्टी ने शनिवार को पत्र जारी कर ओमप्रकाश राजभर और शिवपाल सिंह यादव को दो टूक सलाह दी। सपा ने पत्र जारी कर कहा है जहां मिले सम्मान वहां करें प्रस्थान।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 के परिणाम आने के बाद से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच लम्बे समय से चल रही तल्खी पर समाजवादी पार्टी ने आज लेटर बम फोड़ दिया है। समाजवादी पार्टी का पत्र जारी होने के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के साथ ही साथ शिवपाल सिंह यादव ने भी अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। शिवपाल सिंह यादव की पार्टी के साथ विधानसभा चुनाव में गठबंधन करने के बाद भी समाजवादी पार्टी ने उनको सिर्फ एक ही सीट दी थी। उस सीट पर भी शिवपाल सिंह यादव सपा के सिंबल पर चुनाव लड़े। उनकी पार्टी को मिला सिंबल स्टूल खाली ही पड़ा रहा गया। शिवपाल सिंह यादव ने अखिलेश यादव से 25-30 सीट मांगी थी।