May 16, 2022 6:13 pm

धामी के कुमाऊँ दौरे का दूसरा दिन, साइकिल चलाकर बोले – ‘पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता सीएम बना है’

खटीमा: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने टोक्यो ओलंपिक में भाग ले रहे भारतीय खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया। उन्हाेंने अपने ऊधमसिंह नगर दौरे के दूसरे दिन शनिवार को रुद्रपुर में साइकिल चलाकर खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया। इस दौरान उन्होंने सभी भारतीय खिलाड़ियों को शुभकामनाएं भी दीं। उनके साथ ही अन्य भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं ने भी साइकिल रैली में भाग लिया। बता दें कि मुख्यमंत्री दो दिन के दौरे पर शुक्रवार को रुद्रपुर पहुंचे थे। जहां उन्होंने रोड शो में भाग लिया था और कई योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास भी किया था। मुख्यमंत्री बनने के बाद शुक्रवार को पहली बार अपने गृह जनपद पहुंचे पुष्कर सिंह धामी ने अगले पांच वर्षों में उत्तराखंड को पर्यटन क्षेत्र के साथ ही उद्योग और बिजली उत्पादन में देश का नंबर वन राज्य बनाने का वादा किया।


गृह जिले की जनता के समक्ष चुनाव से पहले अगले पांच वर्षों का रोड मैप रखते हुए उन्होंने कहा कि बागेश्वर से टनकपुर तक प्रस्तावित रेल लाइन को भी ब्रॉड गेज बनाने की तैयारी है।  रुद्रपुर पहुंचे मुख्यमंत्री धामी ने भाजपा जिला कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर उनका आभार जताया। जिला कार्यालय में उत्साहित कार्यकर्ताओं की इतनी भीड़ थी कि मुख्यमंत्री को संबोधित करने के लिए अपनी सीट पर खड़ा होना पड़ा। उन्होंने कहा कि रुद्रपुर से उनका पुराना नाता रहा है, जब वह भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष थे, तब उनका अक्सर यहां सिंचाई विभाग के डाक बंगले में डेरा होता था।

‘पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता सीएम बना’

पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आज वह अकेले सीएम नहीं बने हैं, बल्कि पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता सीएम बना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड का विकास होगा। प्रधानमंत्री का उत्तराखंड से लगाव का इसी बात से पता चलता है कि उन्होंने 15 मिनट का समय देकर उनसे राज्य के मुद्दों पर सवा घंटा बातचीत की। सीएम ने कहा कि राज्य को जोड़ने वाले हाईवे और बाईपास निर्माण के लिए 32 हजार करोड़ रुपये का बजट जारी हो चुका है। बाईपास निर्माण के बाद राज्य से दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों की दूरी कम समय में तय हो जाएगी। कोरोना महामारी के कारण राज्य के कई युवा परीक्षाओं में शामिल नहीं हो सके थे, उन्हें एक वर्ष की छूट दी है। शीघ्र ही 23 हजार, 400 रिक्त पदों पर भर्ती होगी।

कोरोनाकाल में अनाथ हो चुके बच्चों के लिए वात्सल्य योजना शीघ्र लांच हो रही है। उन्होंने कहा कि हमारा एजेंडा व्यक्तिगत न होकर, सिर्फ प्रदेश का विकास करना है। राज्य के सभी उद्योगों को पूरी गति से चलाने और नए उद्योगों को स्थापित किया जाएगा।