May 18, 2022 1:01 pm

युवा संवाद कार्यक्रम के तहत श्रीनगर पहुंचे AAP नेता कोठियाल बोले सरकार ने जबरन बनाया देवस्थानम बोर्ड

श्रीनगर: आम आदमी पार्टी के वरिष्ट नेता कर्नल अजय कोठियाल अपने युवा संवाद कार्यक्रम में आज युवाओं से सीधी बात करने के लिए श्रीनगर गढ़वाल पहुंचे । श्रीनगर पहुंचे ही, सैकडों की तादाद में छात्रों और युवाओं  ने उनका  गर्मजोशी से स्वागत किया और उनसे मिलने पहुंची भीड़ ने , रोड शो के जरिए  शहर के बीचों बीच होते हुए सराफ धर्मशाला पहुंचे। जहां पहुंचकर कर्नल कोठियाल ने युवाओं से सीधे संवाद किया और उत्तराखंड नवनिर्माण के एजेंडे पर युवाओं से सीधी बात की ।

युवाओं से बात करते हुए कर्नल कोठियाल ने कहा,उनको कई बार श्रीनगर आने का मौका मिला  और हर बार यहां आकर  एक अलग एहसास होता है। यहां के युवाओं को देखकर हर बार नया जोश और जज्बा देखने को मिलता है । उन्होंने युवाओं से आव्हान करते हुए कहा, अब वक्त आ चुका है कि युवाओं को आगे आकर प्रदेश का नवनिर्माण करना चाहिए ।  इसलिए वो पूरे प्रदेश में युवाओं से मिलकर उनसे  सीधा संवाद कर रहे हैं और उत्तराखंड  नवनिर्माण के सपने को पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं । उन्होंने जागेश्वर धाम में हुई घटना की निंदा करते हुए कहा कि, एक सांसद द्वारा इस तरह की घटना को अंजाम देना बहुत निंदनीय है । क्योंकि सांसद एक जिम्मेदार जन प्रतिनिधी होता है। भाजपा के सांसद द्वारा इस तरह की घटना निंदनीय है और ऐसे लोगों पर बीजेपी पार्टी को दंडात्मक कार्रवाई करनी चाहिए और उस सांसद को मंदिर में जाकर सबसे क्षमा मांगनी चाहिए।

वहीं देवस्थानम बोर्ड पर एक छात्र के सवाल पर  उन्होंने कहा कि ,देवस्थानम बोर्ड सिर्फ एक बोर्ड नहीं, बल्कि लोगों की आस्था से जुड़ा एक गहरा रिश्ता है, जिस पर लाखों लोगों की आस्था है । यहां के चार धामों में लोगों की आस्था जुड़ी हुई है ।गढ़वाल और कुमाऊं रेजिमेंट जब लड़ाई में दुश्मनों से लड़ने जाते हैं ,तो वह भी देवी देवताओं का नाम लेकर दुश्मनों पर कहर बनकर टूटते है। इन सबके पीछे धर्म और आस्था जुड़ी हुई है ।चारों धामों का अलग अलग महत्व है ,लेकिन सरकार ने जबरन बोर्ड बनाकर तीर्थ पुरोहित और हक हकूक धारियों का हक छीनने की कोशिश की है जो सरासर गलत है। सरकार को इस बोर्ड की गहराई को समझना चाहिए था लेकिन सरकार ने ऐसा नहीं किया। इसके बाद मूलभूत सुविधाओं पर पूछे युवाओं के कई सवालों पर कर्नल कोठियाल ने कहा, आम आदमी पार्टी आने वाले समय में मूलभूत सुविधाओं और युवाओं के रोजगार  को लेकर अपना रोडमैप जनता के सामने रखेगी।

मुफ्त बिजली को लेकर उन्होंने कहा कि, यहां पर डैम बनाने के लिए कई गांव को डूबने के साथ डूब क्षेत्र में आना  पड़ता है और यह सिर्फ गांव नहीं बल्कि लोगों की वह भावनाएं हैं ,जिन्हें पैसे से नहीं खरीदा जा सकता। टिहरी का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा, उत्तराखंड की जमीन पर बने इस डैम पर आज भी उत्तराखंड का अधिकार नहीं,यहां के लोगों को मुफ्त बिजली नहीं मिलती ।  आखिर क्यों यहां के लोगों को उनका अधिकार नहीं मिला है, उन्होंने कहा मुफ्त बिजली देना सिर्फ मुफ्त नहीं ,बल्कि लोगों का मौलिक अधिकार है जो उन्हें मिलना चाहिए और आम आदमी पार्टी इसकी वकालत करती है।

चार धाम यात्रा पर बोलते हुए कर्नल कोठियाल ने कहा कि ,चार धाम यात्रा सिर्फ एक यात्रा नहीं ,बल्कि हजारों लोगों की रोजी-रोटी इस यात्रा से जुड़ी हुई है। 2 साल से चार धाम यात्रा रुकी हुई है ,लेकिन सरकार के पास ऐसा कोई रास्ता नहीं कि, वह चार धाम के लिए एक व्यवस्था बना सके। उन्होंने कहा कि लोग चाहते हैं चार धाम यात्रा शुरू हो ,लेकिन सरकार जबरन यात्रा को रोक रही है और सरकार को इस को लेकर गंभीर होना ही पड़ेगा। श्रीनगर में एनआईटी को लेकर उन्होनें कहा कि जब कश्मीर में एनआईटी संचालित हो सकता है तो फिर यहां क्यों नहीं, एनआईटी और अच्छे स्कूल श्रीनगर की बहुत बड़ी जरूरत है और यह एक अच्छी सोच थी कि श्रीनगर में एनआईटी को शुरू किया गया, उन्होंने कहा कि श्रीनगर में पूरे भारत से बच्चे पढने यूनिवर्सिटी में आते हैं,इसलिए एनआईटी को यहां से शिफट नहीं होने देंगे। उन्होंने भू कानून को लेकर कहा कि ,यहां के युवाओं, मातृशक्ति और अन्य आंदोलनकारियों ने अपनी शहादत देकर इस प्रदेश को बनाया और जो आंदोलनकारी हैं हम उनसे भू कानून को और सशक्त बनाने की प्रेरणा लेते रहते हैं,  आम आदमी पार्टी सशक्त कानून की हमेशा पैरोकार रही है ,और सशक्त को कानून बनना ही चाहिए।

दिल्ली मॉडल पर कर्नल कोठियाल ने बोलते हुए कहा कि दिल्ली की जो बेहतर चीजें हैं उन सब को उत्तराखंड में लागू किया जाएगा जिसमें स्वास्थ्य शिक्षा पानी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आज उत्तराखंड की जल जंगल जमीन सब बर्बाद हो रहा है और हम सिर्फ चौकीदार की भूमिका अदा कर रहे हैं, उत्तराखंड ने हमेशा देश की तरक्की के लिए कुर्बानी दी है और जिस ग्रीन बोनस का हक उत्तराखंड की जनता को मिलना चाहिए वह हक हमको नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि यह हमारे राजनेताओं की कमी है कि वह उत्तराखंड का हक यानी ग्रीन बोनस पाने में असफल ही साबित हुए हैं। उन्होंने कहा कि हम को पर्यावरण संरक्षण के लिए और ज्यादा जागरूक होना पड़ेगा।

उन्होंने शिक्षा प्रणाली पर बोलते हुए कहा कि आज सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में जमीन आसमान का अंतर सरकारी विद्यालयों के शिक्षकों की तनख्वाह प्राइवेट विद्यालयों के शिक्षकों की तनख्वाह से कहीं ज्यादा है जबकि सरकारी स्कूलों की फीस प्राइवेट स्कूलों के फीस से काफी कम है फिर भी प्राइवेट स्कूलों में लोग अपने बच्चों को पढ़ाना पसंद करते हैं वहीं अगर दिल्ली की बात करें तो दिल्ली में आप पार्टी के सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता को ऐसा सुधारा गया है कि लोग प्राइवेट स्कूलों के बदले सरकारी स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि रिवर्स पलायन को बढ़ावा देने के लिए छोटी-छोटी स्कीम को बढ़ावा देना बहुत जरूरी है ,और हम सबको मिलकर इसे करना होगा, मैं और मेरी पार्टी इस पर पूरी तरीके से फोकस कर रहे हैं ,जो आने वाले समय में जल्द ही जनता को दिखेगा। उन्होंने कहा कि आज हमको एक टारगेट सेट करने की जरूरत है ताकि यहां के लोग दूसरों के लिए एक मिसाल बन सके। उन्होंने कहा कि जब सबसे पहले मैं श्रीनगर आया था ,तो श्रीनगर के युवाओं को जोश मशीन के रूप में देखा और आज भी यहां के युवाओं को जोश मशीन के रूप में देख कर खुशी महसूस हो रही है, उन्होंने कहा कि यह युवा शक्ति है और इसको सही मार्गदर्शन देने की जरूरत है ,जिसे हमारी पार्टी सही मार्गदर्शन देगी और इनका साथ लेकर पुनर्निर्माण का सपना साकार करेगी।