May 22, 2022 12:10 am

उत्तराखंड मे बनेगा जनसंख्या नियंत्रण कानून, 10वीं और 12वीं के बच्चों को दिये जाएंगे फ्री टैबलेट – CM  धामी

देहरादून: 75 वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को कई बड़ी घोषणाएं की है. सीएम धामी ने ‘सुंदर लाल बहुगुणा प्रकृति संरक्षण पुरस्कार’ शुरू करने, 10वीं और 12 वीं कक्षा के छात्रों को फ्री टैबलेट देने और जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून बनाने सहित कई महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं.

मुख्यमंत्री देहरादून में पुलिस लाइंस में आयोजित मुख्य समारोह में ध्वजारोहण करने के बाद चमोली जिले में स्थित प्रदेश की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण पहुंचे और वहां विधानसभा परिसर में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में हिस्सा लिया और तिरंगा फहराया. देहरादून में अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने दिवंगत पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा के प्रकृति और पर्यावरण संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान को याद किया और कहा कि उनकी स्मृति में ‘सुंदर लाल बहुगुणा प्रकृति संरक्षण पुरस्कार’ शुरू किया जा रहा है जिसमें दो लाख रुपये की राशि दी जाएगी. धामी ने राजकीय स्कूलों के कक्षा 10 एवं 12 के छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन पढ़ाई को और सुगम बनाने के लिए नि:शुल्क टैबलेट देने की भी घोषणा की. सीएम ने कहा कि इन टैबलेट में सभी शिक्षण सामग्री पहले से अपलोड रहेगी.

राज्य भाषा एवं संस्कृति अकादमी की होगी स्थापना

सीएम ने कहा कि उनकी सरकार जनसंख्या नियंत्रण के लिए एक उच्चस्तरीय समिति का गठन कर प्रभावी कानून लागू करने की दिशा में ठोस कदम उठाएगी. धामी ने राज्य की संस्कृति और भाषाओं के अध्ययन एवं शोध के लिए राज्य भाषा एवं संस्कृति अकादमी की स्थापना करने, बडे़ शहरों जैसे देहरादून, हरिद्वार, रुद्रपुर और हल्द्वानी में यातायात समस्या के निस्तारण के लिए आउटर रिंग रोड बनाने, देहरादून के रायपुर क्षेत्र में स्थित खेल महाविद्यालय को अंतरराष्ट्रीय स्तर का खेल विश्वविद्यालय बनाने का प्रयास करने और प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत नगरीय क्षेत्रों में बेघर लोगों के लिए लगभग 25 हजार घर बनाने की भी घोषणा की.

भू-कानून के मुद्दे पर भी बात

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पलायन और भूमि की अनधिकृत खरीद-फरोख्त के संबंध में जनता द्वारा व्यक्त की जा रही चिंता के मद्देनजर राज्य सरकार पर्वतीय क्षेत्रों में सत्यापन अभियान शुरू करने जा रही है जिससे कि पहाड़ की संस्कृति एवं सामाजिक परिवेश को सुरक्षित रखा जा सके. उन्होंने कहा कि पलायन की समस्या की रोकथाम के लिए शीघ्र ही केंद्र के साथ मिलकर ‘हिम प्रहरी’ योजना लागू की जाएगी जबकि भू-कानून को लेकर व्यक्त की जा रही आशंकाओं पर समग्र रूप से विचार के लिए एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया जाएगा जो भूमि संरक्षण के साथ ही रोजगार एवं निवेश संबंधी विषयों का भी ध्यान रखेगी.

कई लोग किए गए सम्मानित

इस मौके पर सीएम ने अपनी सरकार द्वारा किए गए काम का लेखा जोखा भी रखा. रोजगार, शहीद सैनिकों के परिजनों, कोरोना के खिलाफ जंग के लिए उठाए गए सरकार द्वारा कदम भी गिनवाए. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों, खिलाड़ियों, पर्वतारोहियों, चिकित्सकों, पर्यावरण मित्रों एवं विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों को भी सम्मानित किया. खेल के क्षेत्र में हॉकी में वंदना कटारिया, फुटबॉल में अनिरुद्ध थापा, मुक्केबाजी में निवेदिता कार्की एवं उप क्रीड़ाधिकारी द्रोणाचार्य पुरस्कार प्राप्त प्रशिक्षक केजेएस कलसी को पुरस्कृत किया गया.