May 21, 2022 1:36 am

हर तबके के व्यक्ति को मिलेगा “निशुल्क पैथोलाजी जांच योजना” का लाभ, CM धामी ने की योजना की शुरुआत

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जिला चिकित्सालय (कोरोनेशन अस्पताल) में निश्शुल्क जांच योजना की शुरुआत की है। इस दौरान सीएम ने कहा कि समाज के अंतिम छोर पर खड़ने व्यक्ति को इस योजना का लाभ मिलेगा। सीएम ने कहा, इस योजना का उद्देश्य है कि सही समय पर बीमारी का पता चले और उपचार मिल सके।

सीएम धामी ने कहा कि कई बार व्यक्ति धन के अभाव में जांच नहीं कराता है। ऐसे में सही वक्त तक डायग्नोस न होने पर बीमारी गंभीर हो जाती है, जिसके इलाज में व्यक्ति की आर्थिकी बिगड़ जाती है। इस योजना का उद्देश्य यही है कि सही समय पर बीमारी डायग्नोस हो और वक्त पर उपचार मिले। उन्होंने कोरोनाकाल में किए काम के लिए चिकित्सक और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार पूरी तरह तैयार है।

स्वास्थ्य मंत्री डा धन सिंह रावत ने कहा कि आयुष्मान योजना में अब तक 3.17 लाख को निश्शुल्क उपचार मिला है। वहीं, कोरोना वैक्सीन की साढे 72 लाख खुराक अब तक लग चुकी हैं।अब जनता के लिये निश्शुल्क जांच योजना शुरू की जा रही है, जिसमें हर श्रेणी के व्यक्ति की 207 जांच निश्शुल्क की जाएगी।इस दौरान विधायक खजान दास,स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी, महानिदेशक डा तृप्ति बहुगुणा,निदेशक एनएचाएम डा सरोज नैथानी,सीएमओ डा मनोज उप्रेती,अस्पताल की सीएमए डा शिखा जंगपांगी आदि मौजूद रहे।

जानिए योजना के बारे में

यह योजना सालभर चौबीस घंटे कार्यशील रहेगी, जिससे आइपीडी, ओपीडी और इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को पैथोलाजी जांच के लिए किसी तरह की असुविधा न हो। योजना के प्रथम चरण में निश्शुल्क जांच की सुविधा राज्य के छह जनपदों अल्मोड़ा, टिहरी, देहरादून, नैनीताल, हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर में 38 जिला, उप जिला चिकित्सालय व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर चरणबद्ध तरीके से लागू की जा रही है। द्वितीय चरण में राज्य के शेष जनपदों के 32 चिकित्सा इकाईयों पर यह सुविधा लागू होगी।

इस योजना को लागू करने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने चन्दन हेल्थ केयर को अनुबंधित किया है।योजना के अन्तर्गत 207 प्रकार की पैथोलाजी जांच शामिल हैं, जिसके लागू होने से सरकारी अस्पतालों में पैथोलाजी सुविधा का सुदृढीकरण होगा।