May 21, 2022 1:55 am

अंधविश्वास इतना, घर मे निकला साँप तो गले मे लपेट महिला करने लगी पूजा-अर्चना,जानिये फिर क्या हुआ…

चतरा: हाल में नाग पंचमी का त्योहार संपन्न हुआ है और नाग पंचमी पर सांपों की पूजा करने का विधान है. झारखंड के चतरा जिले के हंटरगंज प्रखंड में सोमवार देर शाम कुछ ऐसी ही घटना घटी. घर में निकले सांप को भगवान का दूत समझकर गले में लपेटकर पूजा-अर्चना करना एक महिला के लिए जानलेवा साबित हुआ. हालांकि काफी झाड़फूंक की गई, लेकिन उक्त महिला की जान नहीं बचाई जा सकी. यह अजीबोगरीब घटना चतरा जिले के हंटरगंज प्रखंड में सोमवार देर शाम को कर्मा पंचायत स्थित रक्शी गांव में घटी. लालदेव भुईयां की पत्नी रुनिया देवी घर से तैयार होकर शिव चर्चा कार्यक्रम में शामिल होने जा रही थी. शिव चर्चा में शिव की महिमा और उनके विभिन्न अवतारों की कथाएं कही जाती है और सावन माह में शिव चर्चा की विशेष मान्यता है.

घर में निकला था जहरीला सांप

इस दौरान एक जहरीला सांप उसके घर में निकल आया. ग्रामीणों ने बताया कि रुनिया देवी ने सर्प को भगवान शिव का दूत समझकर पकड़ लिया और अपने गले में लपेट लिया. इसके बाद वह सांप के साथ पूजा-पाठ करने बैठ गई. देखते ही देखते गांव में लोगों की भीड़ जमा हो गई. महिला सांप के साथ देर तक शिव चर्चा और भजन-कीर्तन में मगन रही. कुछ गांववाले ढोल बजाकर कीर्तन में उसका साथ देने लगे.

पूजा करने लगी महिला, सांप ने लिया डस

भजन-कीर्तन के दौरान ही सर्प ने महिला को शरीर पर कई जगह डस लिया. हालांकि पूजा-पाठ में लीन महिला और वहां मौजूद लोगों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया. धीरे-धीरे जब शरीर में विष का असर बढ़ने लगा तो रुनिया देवी अचेत होकर गिर पड़ी. यह देखकर वहां हड़कंप मच गया. आनन-फानन में परिजन उसकी झाड़फूंक कराने लगे लेकिन देखते ही देखते महिला के प्राण पखेरू उड़ गए. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अंधविश्वास में रुनिया देवी की जान चली गई. समय रहते अस्पताल ले जाने पर उसे बचाया जा सकता था.