May 16, 2022 6:15 pm

तालिबान के कब्ज़े में अफगानिस्तान : ड्राइफ्रूट्स के दाम छूने लगे आसमान

न्यूज़ डेस्क : अफगानिस्तान में तालिबान की हुकूमत का असर देहरादून तक दिखने लगा है। अफगानिस्तान से ड्राई फ्रूट्स का इम्पोर्ट प्रभावित होने का असर  दून के  ड्राईफ्रूट मार्केट पर भी पड़ने लगा है. यहां तक कि ड्राईफ्रूट की पर्याप्त सप्लाई तक नहीं हो पा रही है, इन तमाम हालात के चलते मार्केट में अचानक ड्राई फ्रूट्स के रेट्स में जबर्दस्त उछाल आ गया है. मुरबंदी गिरी (बादाम) के रेट्स में एक सप्ताह के भीतर करीब 200 रुपए तक का उछाल आ गया  है. जिससे लोगों को फेस्टिव सीजन में महंगाई का तगड़ा झटका लगा है.

कारोबार पर भी महंगाई की मार

पहले से कोरोनाकाल से कमजोर पड़ी दून की ड्राईफ्रूट्स मार्केट को अब अफगानिस्तान में तालिबान राज रुला रहा है. त्योहारी सीजन में दून के बाज़ारों में ड्राईफ्रूट्स दिनोदिन  महंगे तो हो ही रहे हैं लेकिन अब उनका आसानी से उपलब्ध हो पाना भी आने वाले दिनों में मुश्किल हो सकता है. लोकल कारोबारियों  के  मुताबिक ज़्यादातर ड्राईफ्रूट्स की सप्लाई अफगानिस्तान से हुआ करती है. लेकिन इनदिनों अफगानिस्तान के हालात क्या हैं सब इससे वाकिफ़ हैं, लिहाजा अब ड्राईफ्रूटक की सप्लाई में शॉर्टेज होने लगी है. जिसके चलते  पुराना स्टॉक भी महंगा होने लगा है।

दाम छूने लगे आसमान

अफगानिस्तान के हालातों से  ड्राईफ्रूट्स के दामों में उछाल देखने को मिल रहा है. पिछले  हफ्ते तक जहां  बादाम 900 रुपए प्रति किलो के हिसाब से  बिका करता था, अब उसी बादाम की कीमत  1100 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गई हैं. ऐसे ही हाल अंजीर के भी है, उसकी कीमत भी 800 से लेकर 1200 रुपए को छू रही है जबकि कंधार की किशमिश और खुमानी  के तो   बाजार में दीदार   तक नहीं हो पा रहे है.

ड्राइफ्रूट्स के ये हैं रेट्स

– बादाम गिरी—1100

– छुआरा—250

– मुनक्का–700

– पिस्ता–2300

अफगानिस्तान से इम्पोर्ट होने वाले  ड्राइफ्रूट्स

– बादाम

– अंजीर

– छुआरा

– मुनक्का

– पिस्ता

– कंधार किशमिश

– खुबानी

कुल मिलाकर अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे ने त्योहारों  में  व्यापारियों को कमाई और ख़रीदारों को महंगाई की चिंता के चक्रव्यूह में फंसा दिया है।