May 18, 2022 1:00 pm

उत्तराखंड में भू-कानून को लेकर UKD का विधानसभा कूच,सरकार को घेरकर कहीं ये बातें 

देहरादून: उत्तराखंड में सख्त भू-कानून को लेकर यूकेडी ने सोमवार को विधानसभा कूच किया। भारी संख्या में यूकेडी कार्यकर्ता केंद्रीय अध्यक्ष काशी सिंह ऐरी के नेतृत्व में साढ़े 12 बजे यूकेडी कार्यालय से विधानसभा के लिए पैदल नारेबाजी करते हुए निकले। बरसात के बावजूद भी कार्यकर्ताओं का हौसला नहीं कम नहीं हुआ।दल के झंडों, बैनर के साथ महिलाओ को सबसे आगे रखा गया, उसके बाद दल के वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता चले। विधानसभा के सामने रिस्पना पुल तक आने में करीब एक घंटा लगा।

इस बीच पुलिस बैरिकेडिंग पर डबल सुरक्षा चक्र बनाया गया था। पुलिस बल की ओर से कार्यकर्ताओं को बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया गया था। बैरिकेडिंग पर पुलिस व कार्यकर्ताओं की जमकर 15 से 20 मिनट जोर-आजमाइश हुई। धक्का-मुक्की के बीच कुछ कार्यकर्ता मामूली रूप से जख्मी हुए। कार्यकर्ता वहीं जमीन पर बैठ गए। काशी सिंह ऐरी ने कहा कि सरकार पूरी तरह विफल व जनसरोकारों से सरकार को कोई वास्ता नहीं। मूल निवासी मुद्दा, राज्य आन्दोलनकरियों को सम्मान व नौकरी, पेंशन आदि मुद्दों को लेकर सरकार ने कुछ भी नहीं किया।

ऐरी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि राजधानी गैरसैंण को लेकर यूकेडी का आंदोलन चलता रहेगा। चिंता जताई है कि प्रदेश के पर्वतीय जिलों में बिजली, सड़क, पानी, स्वास्थ्य आदि बुनियादी सेवाओं को बुरा हाल है। मांग की है कि सरकार की ओर से बुनियादी सुविधाओं को दुरस्त किया जाए। यूकेडी के विधानसभा कूच की वजह से शहर के विभिन्न चौराहों पर जाम लगा गया। पुलिस की ओर से ट्रैफिक डायवर्ट कर खुलवाया गया।