May 22, 2022 1:23 am

पुनर्वास को लेकर शिफन कोर्ट वासियों ने दिया धरना कांग्रेस, आप उक्रांद सहित समाजसेवी भी आये एक मंच पर

मसूरी : पुरकुल रोपवे योजना   से शिफन कोर्ट  किताब घर   में  करीब 84 परिवारों को   आवास  विहीन  हुए एक साल का समय हो गया है। हाई कोर्ट के आदेश के  बाद पिछले साल भारी पुलिस बल के साथ  इन परिवारों से, शिफन कोर्ट को खाली करा दिया गया था क्यों कि उक्त  स्थल पर   रोपवे का प्रोजेक्ट लगना है। लेकिन मानवीय दृष्टिकोण को देखते हुए। इन लोगो की आवास की माँग भी जायज थी ,, विकास  की कल्पना करना इतने परिवारों बे घर कर नही की जा सकती ,अपनी इसी माँग को लेकर शिफन कोर्ट वासी सरकार से पुनर्वास की मांग कर रहे हैं।  जिसके चलते ,आज शहीद स्थल झूलाघर  पर कांग्रेस समेत , मसूरी की  कई समजासेवी औऱ  विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों ने आज शिफन कोर्ट के लोगों की मांग जायज ठहराते हुए  एकदिवसीय धरने को अपना समर्थन दे कर माँग की  सरकार जल्द से जल्द  इन मजदूरों की आवास की ब्यवस्था को सुनिश्चित की जाय, लम्बे समय से शिफन कोर्ट  वासी आवास को लेकर मसूरी  विधायक गणेश जोशी जो कि वर्तमान समय मे काबीना मंत्री भी है,औऱ सरकार से मांग कर रहे हैं , शिफन कोर्ट वासियों के कहना कि विधायक गणेश जोशी ने उन्हें आश्वासन दिया था कि वह हंस फाउंडेशन की मदद से  इन परिवारों  आवास की ब्यवस्था करवा रहे हैं, लेकिन वह आश्वासन भी  पूरा नही हो पाया।

वही पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला ने कहा कि वह इस पूरे प्रकरण को नेताप्रतिपक्ष प्रीतम सिंह परिवार के सामने रखेंगे, पर उन से माँग करेंगे कि वह इस समस्या को लेकर मुख्यमंत्री से बात कर कोई न कोई हल जरूर निकालें,, वही पूर्व पालिकाध्यक्ष अध्यक्ष मनमोह सिंह मल्ल ने भी शिफन कोर्ट  के लोगो को अपना समर्थ देते हुए कहा कि उनके समय मे ,यह प्रस्ताव पारित हुआ था  जिसमे एक एकड़ भूमि  रोपवे प्रोजेक्ट के लिए   स्थानंतरित की गई थी लेकिन  उसमें यह भी नियम था कि अगर तीन साल तक उस भूमि पर कोई  योजना नही लगती तो  उक्त भूमि का स्वामित्व नगर पालिका का ही रहेगा  नगर  पालिका को बोर्ड में यह प्रस्ताव  पारित कर  उक्त भूमि को   पर मजदूरों के आवास बना देने चाहिए ,,या फिर कही औऱ  भूमि का चयन कर  इन मजदूरों की समस्या का हल हो जाना चाहिए था।

मसूरी नगर पालिका अध्यक्ष, अनुज गुप्ता ने कहा  जिन मजदूरों के आवास रोपवे कारण तोड़े गए हैं उन में से 80% लोगो को नगर पालिका ने  अपनी जगह पर    उनके रहने की ब्यवस्था कर दी है ,, औऱ पालिका ने बोर्ड में प्रस्ताव पास भी किया है औऱ सरकार को नगर पालिका ने भूमि भी उपलब्ध करा दी है, वह सरकार औऱ काबीना मंत्री गणेश जोशी से माँग करते हैं कि जल्द से जल्द  शिफन कोर्ट वासियों, की आवासीय समस्या का समाधान कर   इनके घरों का निर्माण कराए ,,  अनुज गुप्ता ने कहा कि वह हमेशा गरीब औऱ मजदूरों के साथ खड़े हैं. पालिका स्तर से जो कुछ भी मदद  चाहिए  होगी वह औऱ उनका बोर्ड  उससे पीछे नही हटेगा ,,  गरीब लोगों की मदद के लिए वह हमेशा खड़े हैं,औऱ निजी स्तर पर  भी मजदूरों के लिए  जो भी उन से बन पड़ता है , वह हमेशा मदद के लिए तैयार रहते हैं।

गूंज  संस्था की अध्यक्ष ,डॉ सोनिया आनंद रावत ने कहा  मसूरी   विधायक गणेश जोशी को  गरीबो से किया हुआ अपना वादा पूरा करना चाहिए, अब तो वह सरकार में मंत्री भी है , प्रदेश में सरकार भी उनकी ही है , कोरोना के समय लोगों के घरों को खाली कराया गया  ,जो कि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है,, इस मौके पर   विभिन्न राजनीतिक दलों ने  अपने विचार रखें औऱ शिफन कोर्ट  के बेघर हुए लोगो को  अपना समर्थन दिया।इस मौके  पर  मसूरी  नगर पालिका के सभासद परताप पँवार, दर्शन रावत, कुलदीप रौंछेला,   जसबीर   कौर,  पूर्व सभासद  केदार सिंह चौहान ,राज्य आंदोलन कारी प्रदीप भण्डारी ,   मसूरी कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गौरव अग्रवाल , संजय टम्टा    नगर पालिका सभासद , सरिता पँवार , समाज सेवी मनीष गोनियाल, आर पी बडोनी , देवी गोदियाल, बिल्लू वाल्मिकी,  उक्रांद  नेत्री प्रमिला रावत, आम आदमी पार्टी के  प्रवक्ता ,नवीन पिरसाली ,राज्य आंदोलन कारी पूर्ण जुयाल सहित सैकड़ो लोग उपस्थित रहे ।

 

रिपोर्टर – उपेन्द्र लेखवार मसूरी