May 16, 2022 5:17 pm

50 साल पहले बने रानीपोखरी के पुल टूटने पर सवाल, पूर्व केबिनेट मंत्री बोले बड़े पैमाने पर खनन है इसका कारण…

देहरादून: के रानीपोखरी गांव के पास जाखन नदी पर देहरादून-ऋषिकेश पुल का 1 किमी लंबा हिस्सा शुक्रवार को उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के कारण ढह गया. उत्तराखंड में पिछले तीन-चार दिनों से भारी बारिश हो रही है. देहरादून में पिछले 48 घंटे से लगातार हो रही बारिश ने कहर बरपा रखा है जिससे मालदेवता-सहस्रधारा लिंक रोड कई मीटर तक नदी में डूबा हुआ है. कई जगहों पर भूस्खलन के कारण ऋषिकेश-देवप्रयाग, ऋषिकेश-टिहरी और देहरादून-मसूरी मार्ग बंद कर दिए गए हैं. क्षेत्र में भारी बारिश के कारण तपोवन से मलेथा तक राष्ट्रीय राजमार्ग 58 को भी बंद कर दिया गया है.

देहरादून के डीएम भी मौके पर पहुंचे जिन्होंने पुल को लेकर पूरी जानकारी ली. डीएम के पहुचने के बाद भी 2 बार और पुल अलग अलग जगह से टूट गया.  वहीं पूर्व केबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता हीरा सिंह बिष्ट ने नदी में बड़े पैमाने पर खनन को इसका कारण बताया है कि करीब 50 साल पहले बने पुल के टूटने को लेकर सवाल भी खड़े हो रहे हैं. कि आखिर 100 साल की क्षमता वाला पुल कैसे 50 साल में ही टूट गया. डीएम देहारादून ने न्यूज़ स्टेट से खास बात करते हुए कहा है कि पुल के मामले में जांच भी कराई जाएगी. इधर PWD चीफ हरिओम शर्मा  भी  मौके पर पहुंचे. जिनसे न्यूज़ स्टेट ने खास बात की जिन्होंने कहा है कि ये आपदा है . हालाकिं जांच भी कराई जाएगी.

बता दे कि, पिछले तीन से चार दिनों से भारी बारिश के कारण कई स्थानों पर भूस्खलन के कारण ऋषिकेश-देवप्रयाग, ऋषिकेश-टिहरी और देहरादून-मसूरी मार्ग बंद कर दिए गए हैं, उत्तराखंड पुलिस ने शुक्रवार को कहा. पुलिस ने यात्रियों को मौसम सामान्य होने तक इन इलाकों से दूर रहने की सलाह भी दी है. क्षेत्र में भारी बारिश के कारण तपोवन से मलेथा तक राष्ट्रीय राजमार्ग 58 को भी बंद कर दिया गया है.