May 27, 2022 9:18 am

झारखंड विधानसभा में नमाज के लिए कमरा अलॉट, BJP ने मांगा हनुमान चालीसा पढ़ने को हॉल

रांची: झारखंड विधानसभा का कमरा संख्या TW- 348 अचानक चर्चा में आ गया है. यह कमरा नमाज अदा करने के लिये आवंटित किया गया है. विधानसभा के उपसचिव नवीन कुमार ने इस सिलसिले में अधिसूचना जारी कर दी है. अधिसूचना में विधानसभा अध्यक्ष के आदेश का उल्लेख किया गया है. लेकिन अधिसूचना के सार्वजनिक होते ही इस पर सियासत शुरू हो गई है. बीजेपी ने इस लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला है. बीजेपी के मुख्य सचेतक विरंची नारायण ने निशाना साधते हुए कहा कि कल तक हेमंत सरकार तुष्टिकरण की राजनीति कर रही थी. और अब विधानसभा ने भी इस ओर कदम बढ़ाया है. अगर नमाज अदा करने के लिये अलग से कमरे का आवंटन हो सकता है, तो फिर हनुमान चालीसा पढ़ने के लिये भी बड़ा कमरा या हॉल आवंटित होना चाहिए. जैन धर्म को मनाने वालों के लिये भी प्रार्थना या उपासना के लिये कमरा होना चाहिए. सरना धर्म वालों के लिये भी कमरा होना चाहिए.

हालांकि बीजेपी के इस आरोप को निराधार बताते हुए इधर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी ने कहा कि ये परंपरा पिछले कई वर्षों से चली आ रही है. संयुक्त बिहार के जमाने में भी ऐसी व्यवस्था थी. दरअसल इससे पहले तक नये झारखंड विधानसभा में नमाज अदा करने को लेकर आपसी सहमति से काम चल रहा था. लेकिन अब नमाज अदा करने के लिए एक खास कमरे का आवंटन कर दिया गया है. इस बीच बीजेपी के वार पर पलटवार करते हुए जेएमएम प्रवक्ता मनोज पांडेय ने कहा कि विधानसभा में कोई मस्जिद का निर्माण नहीं किया गया है, बल्कि नमाज पढ़ने के लिए एक कमरे की ही व्यवस्था की गई है. और ये व्यवस्था कोई नई व्यवस्था नहीं है.

जेएमएम प्रवक्ता ने कहा कि विधानसभा का नया भवन बीजेपी शासन में बना था. और अगर बीजेपी को इतना ही हिन्दू प्रेम था, तो विधानसभा परिसर के अंदर एक मंदिर बनवाना चाहिए था. विधानसभा में शुक्रवार को मुस्लिम विधायकों के लिए नमाज अदा करने की व्यवस्था की गई है. अगर किसी को मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ करना होगा, तो उनके लिए भी कमरे की व्यवस्था कर दी जाएगी. बता दें फिलहाल झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है. इस सत्र में नमाज वर्सेस हनुमान चालीसा का मुद्दा आगे भी गर्म रहने वाला है.